उत्तराखंड: सीएम साहब कहां हैं आप! ‘विकास’ की इन तस्वीरें को जरूर देखिए!

132

एक तरफ उत्तराखंड सरकार विकास का ढोल पीट रही है तो दूसरी तरफ लोग परेशानियों से जूझ रहे हैं और कोई सुनवाई नहीं है.  हरीश रावत मुख्यमंत्री की बजाय घोषणा मंत्री बन कर रह गए हैं. अगर लोगा समस्याओं के लेकर सरकार के दरबार में आते हैं तो भोले-भाले लोगों को़ आश्वासन देकर वापस भेज दिया जाता है. ऐसा लगता है कि सीएम हरीश रावत ने मान लिया है कि बस लोग उनसे मुलाकात भर करने से खुश हो जाएंगे. लोगों के काम कारने की जरूरत ही नहीं है. अब यह देखिए जून की बारिश में टूटे जड़ाऊखांद-कोचियार-जमणधार मार्ग को अभी तक ठीक नहीं किया गया है. सिर्फ यहीं नहीं पूरे राज्य में लोग टूटी सड़कों के ठीक न होने से परेशान हैं. देखिए बदहाल सड़के, परेशान लोग.

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें
  • पौड़ी जिले के धुमाकोट तहसील में जून में हुई भारी बारिश से जड़ाऊखांद-कोचियार-जमणधार मार्ग बंद हो गया था. जून में टूटी सड़के अभी तक ठीक नहीं हुई हैं. लोग परेशान है तो सरकार झूठे आश्वासन और वादे करके बच निकलती है. अगली स्लाइड में जानिए क्या है दिक्कतें.

पौड़ी जिले के धुमाकोट तहसील में जून में हुई भारी बारिश से जड़ाऊखांद-कोचियार-जमणधार मार्ग बंद हो गया था. जून में टूटी सड़के अभी तक ठीक नहीं हुई हैं. लोग परेशान है तो सरकार झूठे आश्वासन और वादे करके बच निकलती है. अगली स्लाइड में जानिए क्या है दिक्कतें.

  • हालत यह है कि सड़के टूटी होने के कारण लोगों को मीलों का सफर पैदल तय करना पड़ रहा है. बच्चों को स्कूल जाने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है. बीमारों को अस्पताल तक पहुंचाने में लोगों के पसीने छूट रहे हैं. देखे अगली स्लाइड.

    हालत यह है कि सड़के टूटी होने के कारण लोगों को मीलों का सफर पैदल तय करना पड़ रहा है. बच्चों को स्कूल जाने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है. बीमारों को अस्पताल तक पहुंचाने में लोगों के पसीने छूट रहे हैं. देखे अगली स्लाइड.

  • रास्ते बंद होने के कारण गर्भवती महिलाओं, बुजुर्गों और बीमार लोगों को अधिक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. चार महीने से मार्ग को ठीक नहीं किया गया है. अंतिम स्लाइड में जाने क्या कर रहा प्रशासन.

    रास्ते बंद होने के कारण गर्भवती महिलाओं, बुजुर्गों और बीमार लोगों को अधिक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. चार महीने से मार्ग को ठीक नहीं किया गया है. अंतिम स्लाइड में जाने क्या कर रहा प्रशासन.

  • बदहाल सड़कों को लेकर तहसील दिवस पर शिकायत मिलने के बाद एसडीएम ने विभागों को तुरंत सड़क खोलने के निर्देश दिए. बावजूद इसके समस्या का समाधान नहीं हो पाया. लेकिन प्रशासन जैसे अनभिज्ञ बना हुआ है. हर रोज भ्रमण पर रहने वाले सीएम साहब को भी जैसे परवाह नहीं है. विभाग और शासन-प्रशासन की अनदेखी के चलते ग्रामीणों में भारी रोष है. सीएम साहब आप जहां भी हैं, इन तस्वीरों को जरूर देखिए और स्वयं से पूछिए क्या यही है आपका विकास!

    बदहाल सड़कों को लेकर तहसील दिवस पर शिकायत मिलने के बाद एसडीएम ने विभागों को तुरंत सड़क खोलने के निर्देश दिए. बावजूद इसके समस्या का समाधान नहीं हो पाया. लेकिन प्रशासन जैसे अनभिज्ञ बना हुआ है. हर रोज भ्रमण पर रहने वाले सीएम साहब को भी जैसे परवाह नहीं है. विभाग और शासन-प्रशासन की अनदेखी के चलते ग्रामीणों में भारी रोष है. सीएम साहब आप जहां भी हैं, इन तस्वीरों को जरूर देखिए और स्वयं से पूछिए क्या यही है आपका विकास!

loading...