सेना ने सरकार को सौंपा सर्जिकल स्ट्राइक का 90 मिनट वाला वीडियो, जारी करने को लेकर PMO लेगा अंतिम फैसला

2305

इंडियन आर्मी ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) में घुसकर किए गए सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो जारी करने के लिए अपनी तरफ से हरी झंडी दे दी है।

20160929_195052

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें

इंडियन आर्मी ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) में घुसकर किए गए सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो जारी करने के लिए अपनी तरफ से हरी झंडी दे दी है। अब इसपर अंतिम फैसला प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ ऑफिस) को लेना है कि वीडियो को रिलीज किया जाए या नहीं। इक्नॉमिक टाइम्स की खबर के मुताबिक, आर्मी के सीनियर अफसरों ने बताया कि आर्मी चाहती है कि वीडियो को रिलीज किया जाए ताकि वे आरोप रुक सकें जिनमें कहा जा रहा है कि सर्जिकल स्ट्राइक की ही नहीं गई। एबीपी की खबर के मुताबिक, सेना ने सरकार को वीडियो सौंप भी दिया है। वीडियो 90 मिनट का है। आर्मी की तरफ से वीडियो जारी करने की बात पाकिस्तान द्वारा आरोप लगाने के बाद कही गई है जिसमें कहा गया है कि सर्जिकल स्ट्राइक हुई ही नहीं। गौरतलब है कि पाकिस्तान के अलावा विपक्षी दलों के कई नेती भी सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांग चुके हैं। उन नेताओं में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, कांग्रेस के नेता संजय निरुपम जैसे नाम शामिल हैं।

8189_dgmo-ranbir-singh
source: जनसत्ता

अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मतभेदों को परे करते हुए सर्जिकल स्‍ट्राइक के मुद्दे पर उनकी जोरदार तारीफ की थी। केजरीवाल ने सीमापार मौजूद आतंकी ठिकानों पर सर्जिकल स्‍ट्राइक का आदेश देने का फैसला लेने को पीएम मोदी को सैल्‍यूट भी किया। लगभग तीन मिनट के इस वीडियो में केजरीवाल ने कहा कि भले ही उनके पीएम मोदी से कई मुद्दों पर मतभेद हो लेकिन इस मुद्दे पर उनके साथ हैं। केजरीवाल ने सर्जिकल स्‍ट्राइक को नकार रहे पाकिस्‍तान को अंतरराष्‍ट्रीय मंच पर बेनकाब करने की अपील भी की थी। वहीं कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने भारतीय सेना की पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर में सर्जिकल स्‍ट्राइक की कार्रवाई को फर्जी बताया था। निरूपम ने ट्वीट किया था, ”प्रत्‍येक भारतीय पाकिस्‍तान के खिलाफ सर्जिकल स्‍ट्राइक्‍स चाहता है लेकिन भाजपा द्वारा राजनीतिक फायदे के लिए फर्जी वाली नहीं। देश के हितों पर राजनीति।”

Read Also: इंडियन आर्मी का ये फौजी है सर्जिकल-स्ट्राइक का मास्टर-माइंड, मोदी मुरीद हैं, तो सेना भी है दीवानी..!

गौरतलब है कि 27-28 सितंबर की रात को भारतीय सेना ने पीओके में आतंकी लॉन्‍चपैड पर सर्जिकल स्‍ट्राइक की थी। इसमें बड़ी संख्‍या में आतंकी मारे गए थे। भारत की ओर से यह कार्रवाई उरी हमले के जवाब में की गई थी।

loading...