मंदिर से टकराया ट्रक, बिखर गई हर ईंट, एक इंच नहीं खिसके बजरंग बली

7131

भूत-प्रेत का जब डर सताता है तो जुबां से निकलता है जय बजरंग बली। जब कोई काम नहीं बनता है तो भी याद आते हैं बजरंग बली, क्योंकि महाबली हनुमान अगर साथ हैं तो फिर किसी का बाल भी बांका नहीं हो सकता। उनके जैसा बल तीनों लोकों में किसी के पास नही हैं। इस बात का प्रमाण एक बार फिर शनिवार को बांदा जिले में देखने को मिला, जिसे लोग किसी चमत्कार से कम नहीं मान रहे हैं।

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें

सुबह का वक्त था। एक बेलगाम ट्रक अपनी मंजिल पर जल्दी पहुंचना चाहता था, लेकिन उससे पहले ही ड्राइवर ने ट्रक पर से अपना कंट्रोल खो दिया। ट्रक एक मंदिर में जा घुसा। मंदिर बुरी तरह चकनाचूर हो गया। ट्रक के आगे का हिस्सा भी क्षतिग्रस्त हो गया। मंदिर में सो रहे दो पुजारियों की भी मौत हो गई, लेकिन उस मंदिर में रखी हनुमान जी की मूर्ति पर जरा सी खरोंच तक नहीं आई। हाथ में गदा उठाए बजरंगी बली की मूर्ति इस हादसे के बाद भी अपनी जगह से एक इंच भी नहीं हिली। घटना के बाद मौके पर पहुंचे लोग ये देखकर हैरान रह गए।

hanuman-ji-dolphinpost-hindi
मूर्ति देखकर लगा जैसे कुछ हुआ ही न हो: प्रत्यक्षदर्शी
ये घटना बांदा जिले के देहात कोतवाली थानाक्षेत्र में मवई गांव के पास स्थित हनुमान मंदिर की है। शनिवार की सुबह एक तेज रफ्तार ट्रक सीधा मंदिर में घुस गया। वहां सो रहे दो पुजारियों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। वहीं, ट्रक ड्राइवर और क्लीनर को भी गंभीर चोटें आईं। इस हादसे में मंदिर की एक दीवार तक सलामत नहीं बची। पूरा मंदिर कुछ मिनटों से ही चूर-चूर हो गया है, लेकिन वहां रखी पवनसुत हनुमान की मूर्ति अपनी जगह से टस से मस भी नहीं हुई। हादसे के कुछ ही देर बाद वहां लोगों की भीड़ जमा हो गई। वहां मौजूद प्रत्यक्षदर्शी राजेंद्र ने बताया कि जब वो वहां पहुंचे तो मलबे के ढेर पर बजरंग बली की मूर्ति खड़ी हुई थी। करीब जाने पर पता चला कि उस पर एक खरोंच तक नहीं आई थी, जैसे मानो यहां कुछ हुआ ही न हो

मूर्ति को नहीं पहुंचा कोई नुकसान: सिटी मजिस्ट्रेट
बांदा जिले के सिटी मजिस्ट्रेट आरके श्रीवास्तव ने बताया, ”जब मुझे इस हादसे की खबर मिली तो मैं तुरंत घटनास्थल की तरफ रवाना हो गया। वहां पहुंचकर मैंने देखा कि ट्रक जिस मंदिर से टकराया था वो पूरा ढह चुका था। ट्रक के आगे का हिस्सा भी काफी क्षतिग्रस्त था, लेकिन मंदिर में रखी हनुमान जी की मूर्ति अपनी जगह पर सीधी खड़ी हुई थी। उस पर काफी हल्के स्क्रैच आए हुए थे। इसके अलावा मूर्ति को कोई नुकसान नहीं पहुंचा था।”

ये किसी चमत्कार से कम नहीं: पुजारिन
वहीं, इस मंदिर में रहने वाली पुजारिन ने बताया, ”मैं इस हादसे में मारे गए दोनों पुजारियों के साथ इसी मंदिर में रहती थी। शुक्रवार की रात मैं यहां नहीं थी। शनिवार को जब मैं वापस आई तो देखा कि मंदिर चकनाचूर हो चुका है। एक भी दीवार नहीं बची, लेकिन बजरंग बली की मूर्ती अपनी जगह पर सही सलामत थी। मैं ये देखकर हैरान रह गई। ये किसी चमत्कार से कम नहीं है।”
कैसे मंदिर में घुसा ट्रक?
बांदा में दर्जनों अवैध मोरंग की खदानें चल रहीं हैं। इस वजह से ट्रकों का आना-जाना लगा रहता है। खदानों से सबसे पहले मोरंग भरने की होड़ में ट्रक ड्राइवर रफ्तार का बिल्कुल ख्याल नहीं रखते हैं। इसके पहले भी यहां कई हादसे हो चुके हैं। इसके बावजूद प्रशासन खनन माफियाओं पर लगाम लगाने में नाकाम साबित हो रहा है।

loading...