हिन्दू महासभा नाम की कोई चीज नहीं: योगी आदित्यनाथ

184

गोरखपुर: सांसद महंत आदित्यनाथ ने कहा है की हिन्दू महासभा नाम का कोई संगठन आज के समय में नहीं है, और जो तथाकथित लोग हिन्दू महासभा के नाम पर वक्तव्य दे रहे है इन लोगो का कोई वजूद नहीं है।

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें

उन्होंने कहा की ये लोगो ने उन दिवंगत आत्माओं का जिन्होंने इस देश के अन्दर हिंदुत्व के ज्वाला को प्रज्वलित करके हिन्दू महासभा के माध्यम से इस राष्ट की सेवा की थी उनके साथ घोर अन्याय कर रहे है। उनका कहना था की जो लोग हिन्दू महा सभा के नाम पर देश के अन्दर हिन्दू महासभा के सम्पति पर काबिज हो करके लुट खसोट मचाये हुए है, उनका हिंदुत्व से कोई लेना देना नहीं है।

साध्वी प्रज्ञा गिरफ्तारी मामले में कांग्रेस का कृत्य 'देशद्रोह'

एक प्रेस वार्ता के दौरान बिहार में शराब बंदी पर पूछे गए सवाल पर योगी ने कहा कि देखिये जेडी्यु का उतर प्रदेश में कोई आधार नहीं है। अपनी विफलता को छुपाने के लिए जेडी्यु उतर प्रदेश के अन्दर इस प्रकार की बाते कर रहा है, उन्हें इस बात का ध्यान होना चाहिए, कि गुजरात में पहले से ही शराब बंदी है।

उन्होंने शराब बंदी के सवाल पर कहा कि, ये राज्य सरकारों को तय करना है, जिन राज्यों ने उसे लागू किया है, उसकी समीक्षा की जानी चाहिए।

आदित्यनाथ ने कहा,” मुझे लगता है, कि लोक तंत्र में किसी भी मुद्दे पर बहस की परम्परा को आगे बढाया जाना चाहिए, उसका अच्छा पक्ष और बुरा पक्ष क्या है, उस पर चर्चा हो करके समाज के हित में राष्ट के हित में हो , उस प्रकार के निर्णय को हम लोगो को स्वीकार करना चाहिए।”

मथुरा मामले पर पूछे गए सवाल पर योगी ने कहा,”मुझे लगता है, उतर प्रदेश में अगर पुलिस का राजनीति करण नहीं हुआ होता, तो वर्दी पर इतने दर्दनाक हमले नहीं होते, जैसे की आज उतर प्रदेश में देखने को मिल रही है, पिछले चार वर्ष के दौरान डेढ़ दर्जन से अधिक पुलिस अधिकारी और कर्मचारी अपराधियों के हाथ शिकार हुए है, इसका कारण है, कि पुलिस के उच्च अधिकारियो के सत्ता के साथ इतने नजदीकी सम्बन्ध है, कि पता ही नहीं लगता है।”

 

loading...