सलमान रुश्दी ने आतंकवाद को इस्लाम से जोड़ा

289

सलमान रुश्दी ने आतंकवाद को इस्लाम से जोड़ा

बुकर प्राइज विनर ब्रिटिश-इंडियन उपन्यासकार सलमान रुश्दी के नए वीडियो पर विवाद तय हैं, इस वीडियो में उन्होंने इस्लामिक आतंकवाद को सीधे तौर पर इस्लाम से जोड़ दिया है। उनका कहना है कि इस्लामिक आतंकवाद का सीधा मतलब इस्लाम से ही है।

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें

सलमान रुश्दी के यूट्यूब चैनल पर अपलोड किए गए इस वीडियो का टाइटल ‘Violent Mutations of Islam Are Still Islam’ है। इस वीडियो में सलमान रुश्मी इस्लामिक आतंकवाद पर अपनी राय दे रहे हैं।

सलमान रुश्दी ने आतंकवाद पर बोली खरी खरी

इसमें सलमान रुश्दी ने कहा है कि जब वो लोग इस्लामिक आतंकवाद में जुटे हुए हैं और वो ये सब इस्लाम के नाम पर कर रहे हैं तो हम ये कहने वाले कौन होते हैं कि वो इस्लाम के नाम पर ऐसा नहीं कर रहे हैं। जाहिर है जो कुछ भी हो रहा है वो इस्लाम के नाम पर ही हो रहा है।

वीडियो में सलमान रुश्दी ने कहा कि कुल मिलाकर मुझे लगता है कि इस मामले में धर्म की आलोचना किया जाना कानूनी तौर पर सही है क्योंकि खासतौर पर हम सभी जानते है कि दुनिया में आतंकवाद के नाम पर जो कुछ भी हो रहा है उसमें इस्लाम का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसलिए ये कहना कि इस आतंकवाद का इस्लाम से कोई लेना देना है ये लॉजिकली असंभव है।

सलमान रुश्दी ने कहा कि वास्तव में वो जिस इस्लाम का इस्तेमाल कर रहे हैं क्या दूसरे लोग उस इस्लाम को नहीं जानते हैं। ये भी इस्लाम का ही एक रूप है। ये इस्लाम का ऐसा रूप है जिसकी ताकत पर लोग 25-30 साल से विश्वास नहीं कर पा रहे हैं। शायद ये इस्लाम के इस रूप से मुसलमानों की ही सबसे ज्यादा हत्याएं हुई हैं।

सलमान रुश्दी ने आतंकवाद को इस्लाम से जोड़ा
सलमान रुश्दी ने आतंकवाद को इस्लाम से जोड़ा

सुन्नी शियाओं पर हमला कर रहे हैं। शिया सुन्नियों पर हमला कर रहे हैं और अमेरिकी ड्रोन मुसलमानों पर हमला कर रहे हैं। फिर चाहे वो अफगानिस्तान में तालिबान हो या आयतौल्ला हो या फिर कोई और।

समस्या ये है कि उत्परिवर्तन के लिए इस्लाम आसामान्य रूप से उग्र और हिंसक हो गया है। इसके साथ निपटा जाना चाहिए लेकिन इससे निपटने के लिए हमें अपने असली रूप में सच्चाई और हकीकत के साथ सामने आना होगा।

गौरतलब है कि अपने चौथे नॉवेल सैटेनिक वर्सेज़ से भी सलमान रुश्दी बड़े विवाद में फंस गए थे तब उन्होंने अपने इस उपन्यास में पैगंबर मोहम्मद का अपमानजनक समझा जाने वाला चित्रण किया था। ईरान के आध्यात्मिक नेता अयातुल्ला रूहोल्लाह खोमैनी ने उनके खिलाफ मौत का फतवा भी जारी कर दिया था। 2007 में उनको क्वींस बर्थडे ऑनर में नाइटहुड से सम्मानित किया जा चुका है। रुश्दी एक शिया मुस्लिम परिवार से हैं, लेकिन कहते हैं कि वे वास्तव में कभी धार्मिक नहीं रहे।

loading...