नोटबंदी पर सहवाग ने कही दिल को छूने वाली बात, हर भारतीय को होगा गर्व

82

नोटबंदी पर चल रही अफरातफरी के बीच दिग्गज भारतीय क्रिकेटर वीरेन्द्र सहवाग ने दिल को छूने वाली ऐसी बात कही है, जिसे जानकर हर भारतीय को गर्व होगा। सहवाग इन दिनों न केवल अपने चुटीले ट्वीट्स से छाए हुए हैं, बल्कि वह गंभीर मुद्दों पर भी अपनी राय बखूबी रख रहे हैं।

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें

सहवाग ने काला धन के मसले पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा 500 और 1000 रुपए के नोटों पर प्रतिबंध लगाए जाने का स्वागत किया है।

उन्होंने अपने ट्वीट के माध्यम से देशवासियों से पूछा है कि यदि शहीद हनुमनथप्पा सियाचिन ग्लेशियर में हुए हिमस्खलन के बाद 35 फीट गहरे बर्फ में दबकर भी 6 दिन तक मौत को मात दे सकते हैं, तो फिर क्या हम अपने मुल्क को बचाने के लिए थोड़ी तकलीफ नहीं सह सकते हैं? सहवाग कहते हैं कि सियाचिन ग्लेशियर के उस इलाके में जहां तापमान 45 डिग्री से भी नीचे चला जाता है, वहां हमारे ये जवान मुल्क बचाने के लिए जान की बाजी लगा देते हैं. तो फिर हम क्यों नहीं कुछ मुश्किलें झेल सकते हैं।

यह रहा सहवाग का ट्वीटः

पिछले 3 फरवरी को सियाचिन ग्लैशियर की सोनम चौकी पर हिमस्खलन में 10 सैनिक बर्फ में दब गए थे। यहां से 9 सैनिकों के शव तो जल्दी मिल गए, लेकिन हजारों टन बर्फ के नीचे दबे हनुमनथप्पा चमत्कारिक रूप से जिंदा निकले थे।बाद में करीब छह दिनों तक मौत से जूझने के बाद दिल्ली के आर्मी रिसर्च एंड रिफरल हॉस्पिटल में उनका निधन हो गया था।

500 और 1000 रुपए के नोटों पर प्रतिबंध लगाए जाने पर सहवाग इससे पहले भी दिलचस्प ट्वीट कर चुके हैं।

loading...