रूस भारत को देगा एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम, 33 हजार करोड़ की डील

1938

मॉस्को। रूस भारत को सतह से हवा में मार करने वाली एस-400 मिसाइलें देगा, जिसके लिए समझौते पर हस्ताक्षर शनिवार को किए जाएंगे। इस समझौते के बाद भारतीय सुरक्षा तंत्र को और अधिक मजबूती मिलेगी।
सरकारी प्रवक्ता यूरी उशाकोव ने गुरुवार को यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि दोनों देशों के बीच यह समझौता गोवा में होने वाले भारत-रूस शिखर बैठक के दौरान किया जाएगा। इस दौरान गोवा में ब्रिक्स देशों का सम्मेलन भी होगा।
pm_modi_vladimir_putin_meet_pti_650
5 अरब डॉलर (33000 करोड़ रुपए) वाली इस डील पर शनिवार को साइन किए जा सकते हैं। यह एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम 400 किमी की दूरी से आ रहे 300 टारगेट को एक साथ ट्रैक कर सकेगा। यही नहीं, एक ही वक्त में 36 मिसाइलों को टारगेट भी कर सकेगा।
S-400 एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम से विमानों, मिसाइल्स और यहां तक कि ड्रोन्स भी निशाना बनाया जा सकेगा। रूस ने इस सिस्टम को सीरिया में तैनात कर रखा है। इस डील को साइन करने के बाद भारत चीन के बाद ऐसा सिस्टम खरीदने वाला दूसरा देश होगा।
S-400 एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम मास्को का सबसे एडवांस एयर डिफेंस सिस्टम है। भारत ने 5 सिस्टम खरीदने में इंटरेस्ट दिखाया है। इस सिस्टम से 3 तरह की मिसाइलों को दागा जा सकता है।
इंडियन डिफेंस मिनिस्ट्री ने पिछले साल दिसंबर में इस सिस्टम को खरीदने की हरी झंडी दी थी। यूरि उशाकोव के मुताबिक, बातचीत के नतीजों के आधार पर दोनों देशों के बीच कई अन्य डील पर भी हस्ताक्षर की जाएगी।
रूस की योजना भारतीय नौसेना के लिए युद्ध पोत बनाने के प्रोजेक्ट पर भी कार्य करने की है। आपको बता दें कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत ने कई अहम डिफेंस डील की है।

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें
loading...