सर्जिकल स्ट्राइक एक लेकिन ख़बरें अलग-अलग, सेना ने पाकिस्तानी खबरों को बताया झूठा

544

नई दिल्ली: बीते दिन भारतीय सेना  ने पीओके में घुसकर जिस तरह से सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया और लगभग 40 आतंकियों को मौत के घाट उतारा, पूरे देश में चारो तरफ भारतीय सैनिकों की वीरता के चर्चे की सुनाई दे रहे हैं। लेकिन पाकिस्तान में तो कुछ और ही गूंज रहा है। जी हां, भारतीय जवानों द्वारा किये गए इस हमले को लेकर दोनों देशों की मीडिया अलग-अलग खबर दिखा रही है। हालांकि भारत सरकार ने इन सभी ख़बरों को झूठा करार दिया है।

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें
जानिए कैसे सेना ने लिया पाकिस्तान से बदला , कैसे घुस कर मारा
जानिए कैसे सेना ने लिया पाकिस्तान से बदला , कैसे घुस कर मारा

भारतीय सेना ने किया पाकिस्तान में चल रही ख़बरों का खंडन

एक न्यूज चैनल से मिली जानकारी के अनुसार, पाकिस्तानी मीडिया में लगातार झूठी खबरें और झूठी तस्वीरें दिखाई जा रही है। पाकिस्तान में दावा किया जा रहा है कि भारत द्वारा किये गए सर्जिकल ऑपरेशन में 14 भारतीय सैनिकों को मारा गया और कई घायल हुए हैं। साथ ही यह भी बताया जा रहा है कि एक भारतीय जवान को कैद भी किया गया है। जबकि भारत की ओर से कहा जा रहा है कि सर्जिकल ऑपरेशन में गए सभी भारतीय जवान आतंकियों ठिकानों को निस्तेनाबूत कर सकुशल वापस लौट आयें हैं।

भारतीय सेना का कहना है कि पाकिस्तानी चैनलों पर चल रही झूठी खबरों का पूरी तरह खंडन किया है। सेना ने बताया कि पाकिस्तान मीडिया चैनलों में भारतीय सैनिकों की डेडबॉडीज की फर्जी वीडियो और फोटोज़ दिखाई जा रही हैं जिनके जरिए दावा किया जा रहा है भारतीय सेना के जवानों की हत्या पाकिस्तानी सेना ने की है और इसी तरह की झूठी और मॉर्फ की गई तस्वीरें सोशल मीडिया पर भी शेयर की जा रही हैं।

भारतीय सेना ने पाकिस्तानी मीडिया की इन ख़बरों को खारिज करते हुए बताया है कि ये पूरी तरह झूठी हैं और पूरी तरह से ब्लैक प्रोपेगन्डा का उदाहरण है। सेना ने अपील भी की है कि इस तरह की फोटोज़ और वीडिया कहीं भी शेयर ना की जाएं जिससे देश में घबराहट का माहौल ना बने।

सेना ने बताया कि सर्जिकल ऑपरेशन में भारतीय टीम का एक जवान मामूली रूप से घायल हुआ है लेकिन ये भी किसी आतंकी द्वारा हमले की वजह से नहीं हुआ है बल्कि ऑपरेशन से वापस आने के दौरान हुआ है।

वहीं पाकिस्तान की भारतीय सेना के गिरफ्तारी वाली खबर का खंडन करते हुए बताया कि 37 आरआर का एक जवान जो गलती से सीमा पार कर गया था और मेंधार सेक्टर के पास एलओसी के पार चला गया है। इसके अलावा सेना को और किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचा है और पाकिस्तानी मीडिया में दिखाई जा रही भारतीय फौजियों की तस्वीरों झूठी और फर्जी हैं और इनपर किसी तरह का विश्वास नहीं करना चाहिए।

loading...