एक और देश हुआ पीएम मोदी का मुरीद, आतंक से लड़ने के लिए मांगा भारत से हथियार

22075

मास्‍को। दुनिया में भारत का रुतबा दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है। चाहे वो विश्व का सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका हो या फिर कोई और देश। कभी अपनी रक्षा जरूरतों के लिए यूरोपीय देशों अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, और रूस पर निर्भर रहने वाला भारत बहुत जल्‍दी पूरी दुनिया के लिए हथियार खरीदने का हब बनने वाला है। रूस, भारत से यहां की मिसाइलें देने की मिन्‍नते कर रहा है यानी रूस ने भारत में बनी मिसाइल ब्रह्मोस क्रूज को खरीदने की इच्‍छा जाहिर की है।

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें

bl12_hyssm_BrahMos__835915g

मिसाइल ब्रह्मोस क्रूज का इस्तेमाल रूस आतंकियों पर करेगा

भारत में बनी इस मिसाइल ब्रह्मोस क्रूज का उपयोग रूस दुनिया के उन तमाम देशों, जिनमें आतंकवाद ने अपने पैर पसार रखें हैं, उनके विरुद्ध करेगा। आतंकवाद को पनाह देने वाले देशों में भारत का पड़ोसी शत्रु देश पाकिस्‍तान भी शामिल है। रूस भारत से यह मिसाइल खरीदकर अपने सुखोई एसयू-30, एसएम लडाकू विमानों को लैस कर सके। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार रूस की सेना पहले अपने एसयू-30, एसएम लड़ाकू विमानों में भारतीय मिसाइलों का परीक्षण 2017 तक करेगी और उसके बाद वह इन्हें भारत से खरीदने के बारे में समझौता वार्ता शुरू करेगी। हालांकि भारत ने इस मिसाइल का निर्माण रूस के ही सहयोग से किया था। रूस, भारत का अन्‍तर्राष्‍ट्रीय जगत में पुराना मित्र है।

भारत अपनी वायुसेना में नई मिसाइल प्रणाली तथा मिसाइल सहित लड़ाकू विमान का ‘आपरेशन’ पहले स्वयं शुरू करेगा और इसके बाद रूस इनका उपयोग प्रारंभ करेगा। भारत ने मिसाइल युक्त लड़ाकू विमान का परीक्षण इस वर्ष गर्मियों में किया था।

loading...