खून की दलाली वाले बयान पर शाह ने दिया राहुल को करारा जवाब

820

खून की दलाली वाले बयान पर शाह ने दिया राहुल को करारा जवाब नई दिल्ली: बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सर्जिकल स्ट्राइक के लिए भारतीय सेना को बधाई दी। अमित शाह ने सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाने वाले दलों और नेताओं के बयानों की भी निंदा की। उन्होंने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की आलोचना करते हुए कहा कि उनके बयान से सेना का मनोबल गिरा है। उन्होंने कहा कि यह उपलब्धि सेना की है लेकिन इच्छाशक्ति पीएम नरेंद्र मोदी की है।

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें
खून की दलाली वाले बयान पर शाह ने दिया राहुल को करारा जवाब
खून की दलाली वाले बयान पर शाह ने दिया राहुल को करारा जवाब

अमित शाह ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक में सेना की भूमिका को कमतर करने के प्रयासों की मैं आलोचना करता हूं। राहुल गांधी ने ‘खून की दलाली’ संबंधी अपनी टिप्पणी से सभी सीमाएं लांघ दी हैं, उनके शब्दों ने सेना की बहादुरी का अपमान किया है। हमारे सुरक्षा बलों की कार्रवाई पर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए। किसी भी राजनीतिक दल को इस मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए, बलों का मनोबल बढ़ाने के लिए हम जनता के बीच जाएंगे। सरकार पूरी तरह से सेना के साथ है।

उन्होंने कहा कि इस समय पूरा देश आतंकवाद के खिलाफ एक साथ है, ऐसे में राहुल का बयान निंदनीय है। कांग्रेस ने पहले मौत का सौदागर फिर जहर की खेती और अब खून की दलाली बोला। मुझे नहीं पता इसका क्या आशय है। मैं जानना चाहता हूं कि क्या दलाली शब्द सेना के लिए था जो देश को बचाने के प्रयासों में लगी है? सर्जिकल स्ट्राइक के बाद देश गर्व महसूस कर रहा है। राहुल गांधी और कांग्रेस क्यों गर्व महसूस नहीं कर रहे? उन्होंने राहुल गांधी से सवाल पूछा कि क्या सर्जिकल स्ट्राइक की दलाली की जा सकती है?
गौर हो कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि जो हमारे जवान है, जिन्होंने अपना खून दिया है, जम्मू कश्मीर में जिन्होंने अपना खून दिया है, जिन्होंने हिंदुस्तान के लिए सर्जिकल स्ट्राइक किया है, उनके खून के पीछे आप (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) छुपे हुए हो, उनकी आप खून की दलाली कर रहे हो, ये बिल्कुल गलत है। हिंदुस्तान की सेना ने हिंदुस्तान का काम किया है, आप अपना काम कीजिए, आप हिंदुस्तान के किसान की मदद कीजिए। बाद में कांग्रेस उपाध्यक्ष के इस बयान की बीजेपी ने कड़ी आलोचना की थी और इसे सेना का अपमान बताया था।

loading...