“गुरुकुल” के इस 14 साल के बच्‍चे ने 18 देशों में बजाया भारत का डंका

3798

गुरुकुल मे इस समय कोई सर्टिफिकेट नहीं है पर आने वाले 10-12 सालों में ये भी हो जाएगा जब Gurukul को एक ब्रैंड वैल्यू मिल जाएगी.

New Delhi, Aug 2 : हाल ही में इंडोनेशिया में हुए International mathematics competition को जीत कर भारत के तुषार तालावत ने यह साबित कर दिया है कि हम किसी से कम नहीं हैं. आपको जान कर हैरानी होगी कि तुषार सिर्फ 14 साल का है. बता दें कि तुषार अहमदाबाद के गुरुकुल हेमचन्द्रचार्य संस्कृत पाठशाला का छात्र है.

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें
गुरुकुल हेमचन्द्रचार्य संस्कृत पाठशाला का छात्र तुषार
गुरुकुल हेमचन्द्रचार्य संस्कृत पाठशाला का छात्र तुषार

गौरतलब है कि यह प्रतियोगिता अबेकस लर्निंग ऑफ हायर एकेडमिक इंटरनेशनल द्वारा 24 जुलाई को आयोजित की गई थी. इसमें कुल मिलकर 18 देशों के लगभग 1300 बच्‍चों ने हिस्‍सा लिया था. जिसमे भारत के तुषार तालावत ने पहला स्थान हासिल कर इंडोनेशिया में देश का डंका बजाया है.

अंग्रेजी अखबार में छपी रिपोर्ट के अनुसार, इससे पहले भी तुषार कई स्टेट और नेशनल लेवल के कॉम्पटीशन में अपनी योग्यता का बेहतरीन प्रमाण दे चुका है. आरएसएस एफेलिएटेड भारतीय शिक्षण मंडल (BSM) के ज्‍वाइंट ऑर्गेनाइजर सेकेटरी मुकुल कनितकर ने बताया कि तुषार की इस जीत ने ना केवल देश को गर्व महसूस कराया है बल्कि अपने गुरुकुल से प्राप्त की विद्या की ओर भी लोगों का ध्यान केंद्रित किया है. इसके साथ ही उन्‍होंने यह भी कहा कि प्राचीन वैदिक गणित अब एक बार फिर वर्ड लेवल पर चमकने लगी है.

hemchandracharya sanskrit gurukul-vidhyarambh-sanskar | हेमचन्द्रचार्य संस्कृत पाठशाला के विद्या आरंभ  संस्कार का एक दृश्य
हेमचन्द्रचार्य संस्कृत पाठशाला के विद्या आरंभ संस्कार का एक दृश्य

आगे बताते हुए उन्होनें कहा, Gurukul मे इस समय कोई सर्टिफिकेट नहीं है पर आने वाले 10-12 सालों में ये भी हो जाएगा जब Gurukul को एक ब्रैंड वैल्यू मिल जाएगी. हालांकि स्‍टूडेंट Gurukul में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग की ओर से अपना एकेडमिक एग्जाम दे सकते हैं.

MUST READ : गुरुकुल शिक्षाके आगे आधुनिक शिक्षा ने टेके घुटने !

loading...