मेवात में धड़ल्ले से बिक रहा है गौमांस..!

317

मेवात से लिए गए बिरयानी के सात में से पांच सैंपलों में गोमांस पाया गया

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें

हिसार। नूहं के डिप्टी डायरेक्टर से प्राप्त बिरयानी के सात में से पांच सैंपलों में बीफ (गोमांस) पाया गया है। ये सैंपल हरियाणा के हिसार स्थित लाला लाजपत राय पशु विज्ञान एवं पशु चिकित्सा यूनिवर्सिटी (लुवास) में जांच के लिए दो दिन पहले भेजे गए थे। यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॉक्टर श्रीकांत शर्मा ने बताया कि जांच कि रिपोर्ट सरकार को भेज दी गई है। गोसंरक्षण के नए कानून के तहत गोमांस बेचने, खाने और रखने पर तीन से सात साल तक की सजा हो सकती है।

biryani

लुवास के डायरेक्टर रिसर्च रवींद्र शर्मा ने बताया कि लुवास की पॉलीमर चेंज रिएक्शन (पीसीआर) टेक्नोलॉजी से ये टैस्ट किए गए हैं। सरकार ने इस प्रयोगशाला को क्वालिटी टेस्टिंग के लिए स्वीकृत किया हुआ है। प्रदेश में लुवास ही एकमात्र संस्थान है, जहां ऐसी जांच की सुविधा है।

इससे पहले हरियाणा गोसेवा आयोग के अध्यंक्ष भानीराम मंगला ने बताया कि शिकायत आई थी कि मेवात में बिकने वाली बिरयानी में गोमांस मिलाया जा रहा है। इसके बाद ही सैंपल लेकर ऐसे आदेश दिए गए थे। मंगलवार को ही मंगला की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में बिरयानी के सैंपल लेकर जांच कराने का फैसला लिया गया था। गोसंरक्षण के नए कानून के तहत गोमांस बेचने, खाने और रखने पर तीन से सात साल तक की सजा हो सकती है।

loading...