अमित शाह को दिखी योगी में मोदी की झलक, दिया सीएम उम्मीदवार होने का इशारा’

4309

‘हमारा सीएम कैसा हो, आदित्यनाथ जैसा हो’ , नरेंद्र मोदी के लिए भी गुजरात में ऐसे ही नारे लगे थे

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें

लखनऊ। 2017 में प्रदेश वासी सूबे की कमान अगले पांच साल के लिए किसी राजनैतिक पार्टी को दे देंगे। ऐसी कयासों के बीच सभी राजनैतिक पार्टियां प्रदेश वासियों को लुभाने में लगी है। असम चुनाव की तर्ज पर भाजपा प्रदेश में भी अपना कमल खिलाना चाहती है। इसी क्रम में भाजपा के वरिष्ठ नेता यूपी में भाजपा चेहरे की तलाश में लगे हैं। पर चेहरे को लेकर हो रहे मंथन में हाल ही में यूपी दौरे पर आये भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने योगी आदित्यनाथ को चेहरा बनाने के संकेत दे दिए हैं।

amit-shah-gives-signal-for-yogi-as-bjp-cm-candidate

योगी जैसे नारे मोदी के लिए भी लगे

बस्ती में बूथ अध्यक्षों के एक कार्यक्रम में अमित शाह और केशव प्रसाद मौर्य समेत कई बड़े नेता मौजूद थे। इधर अमित शाह लोगों को संबोधित कर ही रहे थे कि अचानक लोगों ने नारे लगाने शुरू कर दिए। ‘हमारा सीएम कैसा हो, आदित्यनाथ जैसा हो’ इन नारों से ही शायद अमित शाह को कुछ पुराना दृश्य याद आ गया होगा। बता दें कि गुजरात में जब तीसरी बार जीतने के बाद नरेंद्र मोदी सत्ता में आए तब भी गुजरात में ठीक एसे ही नारे मोदी को पीएम चेहरे के तौर पर दिखाने के लिए लगे थे।

योगी के नाम से मिलती है यूपी के लोगों को ताकत

इन नारों की गूँज सुनकर अमित शाह खुद को यह कहने से नहीं रोक पाये कि आदित्यनाथ के नाम से यूपी के लोगों में गजब की ताकत आ जाती है। अमित शाह के यह कहते ही लोग और तेज चिल्लाने लगे। हालाँकि इन सब के बीच अमित शाह की नाराज़गी भी झलकी और उन्होंने कहा कि ‘मैं बोलना चालू रखूं या चुप हो जाऊं?’

यही नहीं अपने भाषण के दौरान अमित शाह ने योगी आदित्यनाथ के कैराना वाले बयान का समर्थन भी किया। आदित्यनाथ ने सीएम अखिलेश यादव को कैराना से लगातार परिवारों के पलायन का ज़िम्मेदार ठहराया था। अमित शाह ने इसका समर्थन करते हुए कहा कि बीजेपी कैराना में हो रहे अत्याचार के खिलाफ लड़ेगी। इसके साथ ही सपा सरकार पर उन्होंने जानवरों की तस्करी, माफिया राज और केंद्र की स्कीमों को प्रदेश तक न पहुँचने का आरोप लगाया।

amit-shah-gives-signal-for-yogi-as-bjp-cm-candidate

अभी कुछ तय नहीं

भाजपा प्रदेश मंत्री वीरेंद्र तिवारी ने लखनऊ में इस मुद्दे पर कहा कि अभी कुछ तय
नहीं है कि प्रदेश में सीएम चेहरा कौन होगा। वह एक कार्यक्रम था जिसमें योगी
समर्थक आये हुए थे। इसमें कोई दो राय नहीं है कि योगी प्रदेश के लोकप्रिय
नेताओं में से एक है। अभी यह कहना मुश्किल है कि भाजपा का चेहरा कौन होगा।
इसपर आला कमान निर्णय लेगा। जल्द ही भाजपा की ओर से चेहरे की औपचारिक घोषणा
की जा सकती है। (source: पत्रिका न्यूज़)

loading...