PAK की खुली पोल , पाकिस्तान के सिंध में 93 मदरसों के आतंकी से संबंध

677

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के 93 मदरसों के मजबूत संबंध आतंकवादियों या प्रतिबंधित संगठनों से हैं। पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों को इन मदरसों से आतंकवादियों या प्रतिबंधित संगठनों से संबंध तथा इनकी गतिविधियों के बारे में विश्वसनीय सूचनाएं मिली हैं।

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें

द एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍यून की मानें तो पाकिस्‍तानी इंटेलिजेंस एजेंसियों से पास इस बात के पुख्‍ता प्रमाण हैं कि इन मदरसों में अमन और शांति विरोधी गतिविधियों को अंजाम दिया जाता है अखबार का दावा है कि सिंध प्रांत में कानून व्‍यवस्‍था की समीक्षा के लिए यहां के मुख्‍यमंत्री के घर इससे संबंधित मंगलवार को मीटिंग भी हुई। इस मीटिंग में रेंजर्स डायरेक्‍टर जनरल मेजर जनरल बिलाल अकबर और इंटेलिजेंस एजेंसियों के मुखिया समेत कुछ सिविलियन लीडर्स भी मौजूद रहे।

madarsa

कराची में मुख्यमंत्री निवास पर मंगलवार को कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा के लिए आयोजित विशेष बैठक में मदरसों के साथ आतंकवादियों या प्रतिबंधित संगठनों से संबंध के बारे में जानकारी दी गई।  मुख्‍यमंत्री ने पुलिस और रेंजर्स को आतंकवादियों को पनाह देने वाले मदरसों के खिलाफ ऐक्‍शन लेने के निर्देश दिए हैं। ऐसा बताया जा रहा है कि यह ऑपरेशन चेहल्‍लुम के तुरंत बाद अंजाम दिया जाएगा, जेा कि अशुरा के ठीक 40 दिनों बाद मनाया जाता है

बैठक की अध्यक्षता मुख्यमंत्री मुराद अली शाह ने की, जिसमें पाकिस्तान रेंजर्स के महानिदेशक बिलाल अकबर तथा गुप्तचर एजेंसियों के प्रमुख शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने आतंकवादियों के साथ संबंध रखने वाले मदरसों के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की गतिविधियां सहन नहीं की जा सकती और धर्म के नाम पर निर्दोष लोगों का खून बहाने की किसी को इजाजत नहीं दी जा सकती। मुख्यमंत्री ने गृह मंत्रालय को 93 मदरसों पर नजर रखने का निर्देश दिया।

loading...