सुब्रमण्यम स्वामी, नवजोत सिंह सिद्धू और मैरीकॉम राज्यसभा के लिए मनोनीत

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता वाली राष्ट्रीय सलाहकार परिषद (एनएसी) के सदस्य रहे नरेंद्र जाधव, बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी और नवजोत सिंह सिद्धू सहित छह लोगों को मोदी सरकार ने राज्यसभा के लिए मनोनीत किया है। इनके अलावा मलयालम अभिनेता सुरेश गोपी, पत्रकार स्वप्न दासगुप्ता और मुक्केबाज मैरी कॉम को भी राज्यसभा के नए सदस्यों के तौर पर मनोनीत किया गया है।

rAJYA-sABHA
सुब्रमण्यम स्वामी, नवजोत सिंह सिद्धू और मैरीकॉम राज्यसभा के लिए मनोनीत


केंद्रीय गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि मोदी सरकार की सिफारिश के बाद राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अलग-अलग क्षेत्रों की छह हस्तियों को संसद के उच्च सदन के लिए मनोनीत किया। प्रवक्ता ने बताया कि इन छह हस्तियों के उच्च सदन में मनोनयन के बाबत औपचारिक अधिसूचना जल्द ही जारी कर दी जाएगी। केंद्र सरकार की सलाह पर राष्ट्रपति साहित्य, विज्ञान, खेल, कला एवं समाज सेवा जैसे क्षेत्रों से चुने गए लोगों को राज्यसभा सदस्य के तौर पर मनोनीत करते हैं।

योजना आयोग के सदस्य रह चुके हैं जाधव
62 साल के जाधव अर्थशास्त्री हैं। वह यूपीए सरकार के शासनकाल में 2010 से 2014 तक सोनिया गांधी की अगुवाई वाली एनएसी के सदस्य थे। वह 2009 से 2014 तक योजना आयोग के सदस्य भी रहे हैं। जाधव पुणे विश्वविद्यालय के कुलपति के तौर पर भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं। वह मराठी, अंग्रेजी एवं हिंदी के अच्छे लेखक भी माने जाते हैं। उन्होंने 30 से ज्यादा किताबों का लेखन-संपादन किया है।

गांधी परिवार के धुर विरोध स्वामी को राज्यसभा की सदस्यता
वहीं हॉवर्ड यूनिवर्सिटी से शिक्षा प्राप्त 66 वर्षीय अर्थशास्त्री सुब्रमण्यम स्वामी केंद्रीय वाणिज्य एवं कानून मंत्री रह चुके हैं। वह भी योजना आयोग के सदस्य रह चुके हैं। नेहरू-गांधी परिवार के धुर विरोधी माने जाने वाले स्वामी 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले के याचिकाकर्ताओं में से एक थे। वह कुछ साल पहले ही भाजपा में शामिल हुए हैं।

‘आप’ के हो जाते सिद्धू!
क्रिकेटर रहे सिद्धू अमृतसर से तीन बार बीजेपी के लोकसभा सांसद रह चुके हैं। उन्हें संभवत: इस वजह से मनोनीत किया गया है कि वह आम आदमी पार्टी (आप) में शामिल न हो जाएं। ऐसी खबरें आ रही थीं कि ‘आप’ उन्हें 2017 में होने वाले विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर पेश करने की योजना बना रही है। 52 साल के सिद्धू ने 2014 के लोकसभा चुनाव में अमृतसर से खुद न लड़कर वित्तमंत्री अरुण जेटली को उम्मीदवार बनाने में पार्टी की मदद की थी। बहरहाल, जेटली चुनाव हार गए थे।

बीजेपी समर्थक पत्रकार के तौर पर दासगुप्ता की पहचान
वहीं स्वप्न दासगुप्ता वरिष्ठ पत्रकार हैं और वह दि स्टेट्समैन, दि टाइम्स ऑफ इंडिया और इंडिया टुडे सहित कई मीडिया संगठनों में विभिन्न संपादकीय पदों पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं। 60 साल के दासगुप्ता की पहचान बीजेपी समर्थक पत्रकार के तौर पर रही है। उन्हें पिछले साल पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। वह न्यूज चैनलों पर होनी वाली राजनीतिक बहसों में अक्सर नजर आते हैं और मोदी सरकार के पक्ष में राय जाहिर करते दिखते हैं।

मलयालम फिल्मों को मशहूर हीरो हैं सुरेश गोपी
मलयालम अभिनेता सुरेश गोपी पिछले कुछ सालों से बीजेपी के जानेमाने समर्थक रहे हैं। वह मलयालम सिनेमा के मशहूर एक्शन हीरो हैं। उन्होंने कई फिल्मों में ईमानदार पुलिस अधिकारी की भूमिका निभाई है।

पुर्वोत्तर की भागीदारी सुनिश्चित करेंगी मैरी कॉम
वहीं मणिपुर की रहने वाली 33 साल की मैरी कॉम पांच बार मुक्केबाजी चैंपियन रह चुकी हैं और सभी छह विश्व चैंपियनशिप में पदक जीतने वाली एकमात्र महिला मुक्केबाज हैं। पूर्वोत्तर राज्यों की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए मैरी कॉम को मनोनीत किया गया है।

Loading...
इन ← → पर क्लिक करें

Loading...
loading...
शेयर करें