सोनिया गाँधी के पास 12 लाख करोड़ का काला धन !!

99658

sonia-gandhi-dolphin-post

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें

8 नवंबर 2016 की रात को भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जैसे कि एक इतिहास लिखा है.

ऐसी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता था कि कुछ ही घंटों में देश की सरकार अपनी करेंसी को बंद करने का ऐलान कर सकती है. जैसे ही मोदी ने देश को बताया कि रात्रि 12 बजे 500 और 1000 के नोट बंद हो जायेंगे तो जैसे देश में तहलका मच गया था.

जैसे ही मोदी ने अपना भाषण खत्म किया तो उसके बाद विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने इस फैसले का खुलकर विरोध करना शुरू कर दिया था.

कांग्रेस बता रही है कि इस तरह अचानक से उठाया गया कदम जैसे कि देश में आपातकाल साबित हो सकता है. देश इस फैसले के लिए अभी तैयार नहीं था. आज भी देश में कई गरीब लोग ऐसे हैं जो सीधे बैंक से जुड़े हुए नहीं हैं और इस फैसले का सबसे बड़ा नुकसान उन्हीं गरीबों का होने वाला है.

कांग्रेस के साथ-साथ लेफ्ट और बंगाल की ममता बनर्जी भी मोदी के इस फैसले का विरोध कर रहे हैं.

लेकिन कल रात को आजतक चैनल पर एक डिबेट में बीजेपी के प्रवक्ता ने खुलेआम कांग्रेस और सोनिया गांधी पर गंभीर आरोप ऐसे लगाये कि कांग्रेस के प्रवक्ता उसका जवाब नहीं दे पा रहे थे.

तो आइये जानते हैं कि ऐसा क्या हुआ कि कांग्रेस वालों के गाल लाल हो गये थे-

हिंदी के टीवी चैनल आजतक पर हुआ ड्रामा –

असल में रात 11 बजे हिंदी के टीवी चैनल आजतक पर एंकर पुण्य प्रसून वाजपेयी एक डिबेट करा रहे थे, जहाँ कांग्रेस के प्रवक्ता के रूप में मधु गौंड और बीजेपी की तरह से अनिल बलूनी शामिल थे. नेता मधु गौंड मोदी के इस प्लान की सरेआम आलोचना कर रहे थे. यह बताते हैं कि मोदी ने अभी तक कोई भी काम सही से नहीं किया है. जो भी वादे किये गये थे वह सभी के सभी अधूरे ही हैं. कालेधन का जो वादा किया गया था उसकी तरफ से ध्यान हटाने के लिए असल में यह पूरा प्लान बनाया गया है. वह गरीब लोग जिनके पास थोड़ा बहुत धन है और उनको बैंक खाता नहीं है तो उनको सबसे अधिक परेशानी होने वाली है. आगे मधु बोलते हैं कि लोगों को अभी 15 लाख भी नहीं मिले हैं.

तभी बीजेपी प्रवक्ता अनिल बलूनी बताते हैं –

इसके बाद जब बीजेपी प्रवक्ता बोलना शुरू करते हैं तो वह सबसे पहले यह बोलते हैं कि जनता मोदी जी के इस फैसले के साथ है.

जिन लोगों के पास काला धन है उनको तो मिर्च लगनी ही है. मधु जी इसलिए गुस्से में है क्योकि इस फैसले से काला धन अब रखा रह जायेगा. साथ ही आगे बलूनी बोलते हैं कि मधु गौंड़ को अपना 15 लाख सोनिया गाँधी से ले लेना चाहिए. अनिल बलूनी इसी बीच बातों-बातों में 12 लाख करोड़ का भी जिक्र करते हैं और सीधे 12 लाख करोड़ के साथ सोनिया गाँधी का नाम जोड़ते हैं. राहुल गाँधी और उनके जीजा रोबर्ट वाड्रा का नाम भी काले धन को लेकर बलूनी बताते हैं.

तो क्या है सोनिया गाँधी और 12 लाख करोड़ का राज?

तो जब बलूनी 12 लाख करोड़ रुपैय के साथ सोनिया गाँधी का नाम ले रहे थे तो निश्चित रूप से बीजेपी के पास कुछ तो बड़ी रिपोर्ट्स हैं जो वह देश से छुपा रही हैं. यदि बीजेपी किसी को बचा रही है तो यह भी एक अपराध है और अगर यह 12 लाख करोड़ का आरोप झूठा है तो कांग्रेस को इस आरोप को सामने आकर बताना चाहिए.

वैसे इतना तो निश्चित है कि 12 लाख करोड़ का कोई ना कोई घोटाला तो है, जो शायद कांग्रेस के कार्यकाल में हुआ था.

वैसे जैसे ही अनिल बलूनी ने सोनिया गाँधी के ऊपर 12 लाख करोड़ का आरोप लगाया था तो जैसे मधु जी गुस्से में लाल हो गये थे और इसका विरोध शुरू कर दिया था.

वैसे इस ड्रामे में जो खुलासा हुआ है वह आपको हम बता चुके हैं.

(इस कार्यक्रम का प्रसारण 8 नवम्बर की रात 11 बजे के कार्यक्रम में हुआ था. इस समय एंकर पुण्य प्रसून वाजपेयी थे.)

loading...