ये 10 तथ्य उठाएंगे महाभारत के रहस्यों से पर्दा, जानिए अभी

सनातन धर्म में महाभारत को पांचवा वेद भी माना जाता है। कहते हैं कि महाभारत में एक अच्छा जीवन जीने की सारी विधियां लिखी गई हैं. लेकिन क्या हम महाभारत के बारे में जितना जानते हैं वो काफ़ी है? क्या युद्ध के बाद महाभारत खत्म हो गई? आप ये जान कर हैरान रह जाएंगे कि युद्ध के बाद महाभारत शुरू हुई थी, जिसमें छिपे रहस्य के आस-पास भी हम नहीं पहुंच पाए हैं. आज हम उन रहस्यों को आपके सामने पेश कर रहे हैं, जिनके बारे में आपने कभी सुना भी नहीं होगा.

1. क्या है 18 का रहस्य

महाभारत का युद्ध 18 दिनों तक चला था, इस किताब के 18 अध्याय हैं, श्री कृष्ण ने अर्जुन को 18 दिनों तक गीता का ज्ञान दिया था. गीता में भी 18 अध्याय हैं. कौरवों और पांडवों की कुल सेना 18 अक्षोहिनी थी, और इस युद्ध में मात्र 18 योद्धा ही जीवित बचे थे. ये 18 के आंकड़ों के पीछे का राज़ आज तक कोई नहीं समझ पाया है.

यह भी पढ़े : महाभारत युद्ध के 18 दिनों का क्या है रहस्य

2. अश्वत्थामा

गुरू द्रोणाचार्य के पुत्र अश्वत्थामा को श्री कृष्ण ने अमरता का श्राप दिया था, क्योंकि उसने युद्ध के दौरान ब्रह्मास्त्र का इस्तेमाल किया था. अश्वत्थामा के इस काम से कृष्ण क्रोधित हो गए थे और उन्होंने अश्वत्थामा को श्राप दिया था कि ‘तू इतने वधों का पाप ढोता हुआ तीन हज़ार वर्ष तक निर्जन स्थानों में भटकेगा. तेरे शरीर से सदैव रक्त की दुर्गंध आती रहेगी, तू बहुत-सी बीमारियों से पीड़ित रहेगा’. आज भी कई जगहों पर अश्वत्थामा के देखे जाने की बात कही जाती है. अब इन बातों में कितनी सच्चाई है इसका अंदाज़ा हम लगा भी नहीं सकते.

Loading...
इन ← → पर क्लिक करें

loading...

Loading...
शेयर करें