राज्यसभा में खुद गए विपक्षी नेताओं के पास की खुलकर बातचीत !!

1857

मोदी जी की विनम्रता की एक और झलक देखने को मिली है। राज्यसभा में आज बृहस्पतिवार को PM नरेन्द्र मोदी बिना कोई भी पक्ष-विपक्ष का ध्यान किए स्वयं चलकर विपक्षी नेताओं के पास गए और पूर्व PM  मनमोहन सिंह समेत सभी दलों के नेताओं से काफी देर तक बड़े ही प्रेम से बातचीत की ।

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें

screen-shot-2016-11-24-at-4-47-41-pm

बता दें कि उच्च सदन में आज  जैसे ही भोजनवकाश की घोषणा हुई, दूसरे दलों के नेता हैरान रह गये जब  मोदी जी विपक्षी दीर्घाओं के पास पहुँच गये।  उन्होंने पूर्व PM मनमोहन सिंह के साथ साथ कांग्रेस नेता कर्ण सिंह, आनन्द शर्मा आदि सभी से बातचीत की। मज़ा तब आया जब आम तौर पर सदन में गंभीर मुद्रा में रहने वाले मनमोहन सिंह के पास जाकर मोदी जी ने उनका हाथ पकड़ लिया और फिर उन दोनों को किसी बात पर हंसते हुए भी देखा गया। मोदी जी ने इससे पहले जदयू नेता के शरद यादव, तृणमूल कांग्रेस नेता सुखेन्दु शेखर, कांग्रेस नेता  सुब्बीरामी रेड्डी से भी बातचीत की। सबको बड़ा अच्छा लगा जब उन्होंने BSP प्रमुख मायावती का ख़ुद पहले हाथ जोड़कर अभिवादन किया और जवाब में मायावती ने भी हाथ जोड़े ।

PM ने राकांपा नेता प्रफुल्ल पटेल और द्रमुक  पार्टी की कनिमोई से भी बात की लेकिन तभी वहाँ विख्यात महिला मुक्केबाज़ मैरीकॉम एवं उन्ही की तरह मनोनीत सांसद  संभाजी राव भी पहुँच गये।  मोदी जी ने बेहद उत्साह के साथ उन दोनो से भी बात की। बता दें कि इस दौरान उन्होंने संभाजी के कंधे पर हाथ रखा हुआ था। ग़ौरतलब है कि उच्च सदन मेंनोट बंदी के बाद से इस मुद्दे पर हो रही चर्चा में दौरान मोदी जी की उपस्थिति की मांग विपक्ष द्वारा की जा रही थी और इसी वजह से सारा गतिरोध था।

बताते चलें कि आज गुरुवार होने की वजह से प्रश्नकाल के दौरान PM के तहत आने वाले सभी मंत्रालयों के मौखिक सवाल ही पूछे जाते हैं और शायद इसीलिए मोदी जी आज उच्च सदन में आए थे। परंतु उनसे कोई भी सवाल नहीं पूछा गया बल्कि अधूरी चर्चा को ही आगे बढ़ाया गया और मोदी जी आराम से एक घंटे तक सदन में हो रही चर्चा सुनते रहे । मोदी जी ये विनम्रता देश की जनता को तो लुभाती ही है विरोधियों का भी दिल जीत लेती है ।

article coursty: hindutva.info

loading...