हर जगह बनना है परफेक्ट तो शिवजी से सीखें ये 7 सबक

2184
Prev1 of 2Next
Use your ← → (arrow) keys to browse

हर जगह बनना है परफेक्ट तो शिवजी से सीखें ये 7 सबक : भगवान शिव को देवों के देव का कहा जाता है. महादेव का एक रूप ताडंव करते नटराज का है तो दूसरा रूप महान महायोगी का है. ये दोनों ही रूप रहस्‍यों से भरे हैं, लेकिन शिव को भोलेनाथ भी कहा जाता है. जहां एक साथ इतने सारे रंग हो फिर क्‍यों न अपनी जिंदगी में इन रंगों से प्रेरणा लें.

हर जगह बनना है परफेक्ट है तो शिवजी से सीखें ये 7 सबक
हर जगह बनना है परफेक्ट तो शिवजी से सीखें ये 7 सबक

1. बुराई को खत्‍म करना:
ब्रह्मा उत्‍पत्ति के लिए और विष्‍णु रचना के लिए और शिव को विनाश के लिए जाना जाता है. शिव का यह रूप आपको डराने वाला लग सकता है लेकिन किसी बुराई का खत्‍म होना बेहद जरूरी होता है. शिव इसी के लिए जाने जाते हैं.

2. शांत रहकर खुद पर नियंत्रण रखना :
शिव से बड़ा कोई योगी नहीं हुआ. किसी परिस्थिति से खुद को दूर रखते हुए उस पर पकड़ रखना आसान नहीं होता है. महादेव एक बार ध्‍यान में बैठ जाएं तो दुनिया इधर से उधर हो जाए लेकिन उनका ध्‍यान कोई भंग नहीं कर सकता है. शिव का यह ध्‍यान हमें जीवन की चीजों पर नियंत्रण रखना सिखाती है.

3. नकारात्‍मक चीजों को भी सकारात्‍मक होकर लेना:
समुद्रमंथन से जब विष बाहर आया तो सभी ने कदम पीछे खींच लिए थे क्‍योंकि विष कोई नहीं पी सकता था. ऐसे में महादेव ने स्‍वयं विष (हलाहल) पिया और उन्‍हें नीलकंठ नाम दिया गया. इस घटना से बहुत बड़ा सबक मिलता है कि हम भी जीवन में आने वाली निगेटिव चीजों को अपने अंदर रख लें लेकिन उसका असर न खुद पर हावी होने दें अौर न ही दूसरों पर.

शेष के लिए NEXT पर क्लिक करें 

Prev1 of 2Next
Use your ← → (arrow) keys to browse

x
loading...
SHARE