असम में एक हजार करोड़ की फैक्ट्री लगाएंगे बाबा रामदेव, मिलेगा 4000 लोगों को रोजगार

93

पतंजलि आयुर्वेद इस वित्त वर्ष के आखिर तक असम में 1000 करोड़ रुपए से एक इकाई स्थापित करेगी। असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने बलीपाड़ा में पतंजलि हर्बल एंड मेगा फूड पार्क की आधारशिला रखी। इन्होंने कहा कि 1000 करोड़ रुपए के निवेश से यह इकाई फरवरी 2017 तक तैयार होगी। यह हर्बल और फूड पार्क गुवाहाटी से 180 किलोमीटर दूर तेजपुर के पास बनाया जाएगा। सोनोवाल ने कहा, ‘यह इंडस्ट्री ना केवल सैंकड़ों बेरोजगार युवाओं को नौकरी देगी, बल्कि यह ऑर्गेनिक प्रोडेक्ट्स बनाने में योगदान भी देगी। इससे राज्य के किसानों को भी फायदा होगा। यह फैक्ट्री गैर प्रदूषणकारी होगी, इससे दूसरे औषधीय और अन्य हर्बल प्लांट लगाने के लिए बढ़ावा मिलेगा। इससे इकॉलोजिकल संतुलन को बनाए रखने में फायदा मिलेगा।’ इस दौरान बाबा रामदेव, केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो और राजेन गोहियां सहित कई अन्य मौजूद थे।

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें

Baba-Ramdev-dolphinpost-dolphin-post

इस अवसर पर पतंजलि आयुर्वेद के प्रवर्तक योग गुरू रामदेव ने कहा, ‘इस इकाई से सैकड़ों को प्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा जबकि एक लाख किसान लाभान्वित होंगे। इस फूड पार्क से होने वाला मुनाफा असम के कल्याण में लगाया जाएगा जिसके तहत हर जिले में स्कूल व कौशल विकास केंद्र खोले जाने हैं।’ पतंजलि हर्बल और मेगा फूड पार्क तेजपुर के बलीपाड़ा के एआईडीसी कॉम्पलेक्स में 150 एकड़ में बनाया जाएगा। असम सरकार की प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक इसमें कॉस्मेटिक, न्यूट्रिशियन और खाद्य सामग्री बनाए जाएगी। इस पार्क से 4 हजार लोगों को नौकरी मिलेगी।  बाबा रामदेव की पतंजलि योगपीठ को बोडोलैंड टेरिटोरियल काउंसिल ने चिरांग जिले में 3828 बीघा जमीन दी थी। यह जमीन देश का सबसे बड़ा हर्बल औषधीय पार्क और फैक्ट्री के लिए साल 2014 में दी गई थी।

loading...