ISIS के संदिग्धों को कानूनी सहायता देंगे ओवैसी

721

ISIS के संदिग्धों को कानूनी सहायता देंगे ओवैसी : एमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने केंद्र सरकार पर मुस्लिमों के साथ भेदभाव का आरोप लगाते हुए आंतकी संगठन आईएसआईएस के संदिग्धों को कानूनी मदद मुहैया करानी की बात कही है।

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें
तीन दिन पहले खुफिया एजेंसी एनआईए ने हैदराबाद से 11 लोगों को हिरासत में लिया था, एजेंसी के मुताबिक उनमें से पांच ने कबूला था कि वे आतंकी सरगना के इशारे पर मंदिर में बीफ के टुकड़े रखकर सांप्रदायिक दंगे कराना चाहते थे और कुछ जगहों पर बम धमाके करने की भी योजना थी।

सभी संदिग्ध युवा और पढ़े-लिखे बताए गए थे। कुछ एक ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई भी की थी। इनमें से पांच संदिग्धों की मदद के लिए ओवैसी ने ऐलान किया है।

ओवैसी ने हैदराबाद की मक्का मस्जिद में कहा कि उन्होंने वरिष्ठ वकील अब्दुल अजीम को मुकदमा लड़ने की जिम्मेदारी सौंपी है। ओवैसी ने इस मदद के पीछे संदिग्धों के परिजनों का हवाला दिया। ओवैसी ने बताया के संदिग्धों के परिजनों ने उनसे मदद की गुहार की थी।

ओवैसी बोले बलात्कारियों से भी बदतर ISIS के आतंकी

ISIS के संदिग्धों को कानूनी सहायता देंगे ओवैसी
ISIS के संदिग्धों को कानूनी सहायता देंगे ओवैसी
ओवैसी आईएसआईएस के संदिग्धों को कानूनी मदद जरूर दे रहे हैं लेकिन उन्होंने आतंकी संगठन की घोर निंदा की। उन्होंने आईएसआईएस के लड़ाकों को बलात्कारियों और आतंकवादियों से भी बदतर करार दिया, ये भी कहा कि इस्लाम का आतंकवाद से कोई लेना-देना नहीं है।

ओवैसी ने आईएसआईएस की मानसिकता में सुधार लाने के लिए आल्लाह से दुआ करने की बात कही और कहा कि मुसलमान हमेशा देश के प्रति वफादार रहे हैं।

ओवैसी ने हरियाणा में मुस्लिम युवकों को गोबर खिलाने और पेशाब पिलाने वाली बात पर पीएम नरेंद्र मोदी को घेरा, और कहा कि पीएम मोदी अब तक इस मसले पर चुप क्यों हैं?

ISIS के संदिग्धों को कानूनी सहायता देंगे ओवैसी

loading...