समुद्र में मिला 1950 में गायब हुआ परमाणु बम, अमेरिका ने अब तक रखा था छुपाके

1761

वाशिंगटन। कनाडा के एक गोताखोर द्वारा समुद्र में न्यक्लियर बम खोजने का दावा किया जा रहा है। ऐसा माना जा रहा है कि यह 1950 के दशक में इसी इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हुए अमरीकी बमवर्षक बी 36 में लगा परमाणु बम है। यह विमान ब्रिटिश कोलंबिया के पास उस वक्त दुर्घटनाग्रस्त हो गया था जब यह टेक्सास के कार्सवेल एयरफोर्स बेस जा रहा था। इस विमान में मार्क 4 परमाणु बम लगा था।

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें
b56plane
source: loksamachar

इस बम में लेड, यूरेनियम और टीएनटी भरा हुआ था। लेकिन उसमें प्लोटोनियम नहीं था जिसके चलते यह परमाणु धमाका करने में सक्षम नहीं था। इस विमान में उड़ान के कुछ देर बाद ही आग लग गई थी। तुरंत ही चालक दल ने विमान को ऑटो पायलट मोड पर लगाकर पैराशूट के जरिए इससे छलांग दी थी। इस हादसे में विमान में सवार करीब 17 में से पांच सदस्यों की मौत हो गई थी। अमरीकी सेना के मुताबिक तीन साल बाद इसका मलबा सैकड़ों किमी के दायरे में बिखरा पाया गया था।

इसको तलाशने का दावा करने वाले सीन सिमरीचिंस्की ने बताया कि ब्रिटिश कोलंबिया के पास समुद्री ककड़ी की तलाश में गोता लगाते समय उन्हें समुद्र की तलहटी में कुछ अजीब से चीज दिखाई दी थी। देखने में यह कुछ उड़नतश्तरी जैसी दिखाई दे रही थी। उनकी इस तलाश के बाद वहां बम होने की पुष्टि करने के लिए हैदा गवई द्वीप समूह इलाक़े में नौसेना का जहाज़ भेजा जा रहा है।

loading...