लाल किले से क्या-क्या कहा पीएम मोदी ने, यहां पढ़िए…

2530

नई दिल्ली।  पूरा देश आज आजादी की 70वीं सालगिरह मना रहा है। इस मौके पर देश भर में आजादी का जश्न मनाया जा रहा है। देश की 70वीं वर्षगांठ के मौके पर लाल किले की प्राचीर से देशवासियों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा है कि आज के इस विशेष दिवस पर मैं देश में रहने वाले 125 करोड़ लोगों व विदेशों में रहने वाले भारतीय समुदाय को बधाई देता हूं। उन्होंने कहा है कि मैं उम्मीद करता हूं कि देश की यह ऊर्जा आने वाले वक्त में देश को प्रगति की नई ऊंचाई तक पहुंचाने में मदद करेगी।

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें

पीएम मोदी ने महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और सरदार वल्लभभाई पटेल को सलाम किया। स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से मोदी ने देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा है कि यह इनके अथक प्रयास हैं कि हम आज आजादी का जश्न मना रहे हैं। उन्होंने कहा है कि हर भारतीय ने देश के लिए काम किया है। उनके योगदान से ही स्वराज आया है। आज इस स्वराज को सुशासन में बदलना ही हमारा उद्देश्य है। इसे एक भारत, श्रेष्ठ भारत बनाने की कोशिश करें।

लोगों के जीवन में बदलाव लाने की कोशिश 

पीएम मोदी ने कहा है कि हमारी सरकार का उद्देश्य देश के सामान्य नागरिक के जीवन में बदलाव लाने पर है। उन्होंने कहा कि कम से कम समय में आधार कार्ड, पासपोर्ट और आयकर रिफंड की उपलब्धि को सफलता पूर्वक प्राप्त कर लिया गया है। उन्होंने कहा है कि लोग पुलिस अधिकारियों से ज्यादा आयकर अधिकारियों से डरते हैं, खासकर मध्यम वर्ग के लोग। मैं इसे बदलना चाहता हूं। उन्होंने कहा है कि पहले आयकर रिफंड में काफी वक्त लगता था, लेकिन अब यह तीन सप्ताह के अंदर हो जाता है।

India-Independene-Day-3
source: ibn7

मोदी ने कहा, इसी तरह पासपोर्ट बनवाने में पहले छह से आठ महीने का वक्त लगता था, लेकिन अब यह कुछ सप्ताह में ही बन जाता है, भले ही आज की तारीख में सालाना लगभग दो करोड़ लोग पासपोर्ट के लिए आवेदन करते हैं। पहले सालाना लगभग 20 हजार लोग पासपोर्ट के लिए आवेदन करते थे। हमने 70 करोड़ भारतीयों को अधार कार्ड और सामाजिक सुरक्षा योजनाओं से भी जोड़ा है।

गरीब की थाली महंगी नहीं होने दूंगा

मोदी ने कहा कि पहले की सरकार में इन्फ्लेशन रेट 10% को भी पार कर गया था। हमारे लगातर प्रयासाें कारण हमने इन्फ्लेशन रेट 6% से ऊपर जाने नहीं दिया। हमने आरबीआई के साथ समझौता किया है कि 4% प्लस-माइनस टू के साथ इन्फ्लेशन रेट को कंट्रोल करें। दो साल के सूखे के कारण दाल का उत्पादन चिंता का विषय बना। पहले की तरह महंगाई बढ़ी होती तो पता नहीं क्या होता। इसे रोकने में हमने भरपूर कोशिश की है। यह सरकार अपेक्षाओं से घिरी सरकार है। मैं उस दिशा में प्रयासों में कोताही नहीं बरतूंगा। गरीब की थाली महंगी नहीं होने दूंगा।

1.25 लाख करोड़ की बचत करेंगे

प्रधानमंत्री मोदी ने ऊर्जा के मुद्दे पर कहा कि उनकी सरकार का ध्यान ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोतों पर है, खासकर सौर व पवन ऊर्जा पर। उन्होंने कहा कि बाजार में 350 रुपये में मिलने वाले एलईडी बल्ब को उनकी सरकार मात्र 50 रुपये में उपलब्ध करा रही है। मोदी ने कहा कि अब तक, ऐसे 13 करोड़ बल्ब वितरित किए जा चुके हैं और हमारा लक्ष्य 77 करोड़ बल्ब वितरित करना है। इन 70 करोड़ एलईडी बल्बों से 1.25 लाख करोड़ रुपये कीमत की 20 हजार मेगावाट बिजली की बचत होगी।

उन्होंने कहा कि सुदूरवर्ती इलाकों तक बिजली पहुंचाने के लिए 50 हजार किलोमीटर पारेषण (ट्रांसमिशन) लाइन का निर्माण किया गया है, जबकि पहले यह 30-35 हजार किलोमीटर थी। प्रधानमंत्री ने कहा है कि बिजली की सुविधा से महरूम 18 हजार गांवों में से 10 हजार गांवों तक बिजली पहुंचाई जा चुकी है। उन्होंने कहा है कि आजादी के 60 साल के बाद केवल 14 करोड़ एलपीजी (रसोई गैस) का कनेक्शन दिया गया था, जबकि हमने मात्र 60 सप्ताह के अंदर चार करोड़ नए कनेक्शन दिए।

हम टालना नहीं, टकराना जानते हैं

हम टालना नहीं, टकराना जानते हैं। जब तक हम समस्याओं को सामने रखकर भिड़ते नहीं हैं, समस्याएं नहीं सुलझती हैं। सीमा पर फौज बलिदान दे रही है। कई साल से टल रहा था वन रैंक-वन पेंशन। हमने हर जवान के घर खुशहाली पहुंचा दी। नेताजी की फाइलों को खोलने का निर्णय किया। दुनिया के देशों को भी कहा है कि आपके यहां की फाइलों को दीजिए। हिंदुस्तान को सुभाष बाबू के बारे में जानने का हक था। बांग्लादेश बना, तभी से सीमा विवाद चला। कई दशक चले गए। लेकिन अब कई देशों ने मिलकर इसका निपटारा कर दिया। बिल्डरों की जमात बड़ी अच्छी प्रिंटेड बुकलेट दिखाते हैं। आम आदमी को तकनीकी नॉलेज नहीं होता। वह फंस जाता है। समय पर मकान नहीं मिल पाता। वह पूरी पूंजी लगा देता है। हमने रियल एस्टेट बिल लाकर नकेल डाल दी है। हम टालना नहीं, टकराना जानते हैं।

समस्याएं हैं तो सामर्थ्य भी है

मोदी ने कहा है कि हां, हमने कई समस्याओं का सामना किया है, लेकिन हम इनसे निपटने में सक्षम हैं। भारत में लाखों समस्याएं हैं, लेकिन देश के 125 करोड़ नागरिकों के पास इससे सफलतापूर्वक निपटने की क्षमता है। उन्होंने कहा है कि देश को और ऊंचाई पर ले जाने के लिए हमें अपने काम करने की रफ्तार को और बढ़ाना होगा ताकि भारत वैश्विक पटल पर शीर्ष पर कायम हो सके।

महात्मा गांधी को श्रद्धाजंलि 

लाल किले से भाषण से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुबह राजघाट पहुंचे और उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धाजंलि दी। फिर इसके बाद वह अपने काफिले के साथ देश की आजादी की 70वीं वर्षगांठ पर भाषण देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लाल किला पहुंच चुके हैं। रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, रक्षा राज्यमंत्री सुभाष रामराव भामरे, केंद्रीय रक्षा सचिव जी.मोहन कुमार और भारतीय सेना प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग ने उनकी अगवानी की।

स्वतंत्रता दिवस समारोह में शिरकत करने वाले गणमान्य व्यक्तियों में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता लाल कृष्ण आडवाणी, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, कई केंद्रीय मंत्री और विदेशी राजनयिक शामिल हुए।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

15 अगस्त के मौके पर दिल्ली में सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजाम हैं। दिल्ली पुलिस के तकरीबन 10 हजार जवान और अर्धसैनिक बल राजधानी और लाल किले की सुरक्षा में तैनात हैं। आजादी के जश्न में खलल रोकने के लिए देश के चप्पे-चप्पे पर कड़ा पहरा है। आतंकी खतरे के मद्देनजर दिल्ली से लेकर मुंबई तक जमीन, हवा और पानी पर सुरक्षा पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। दिल्ली, जम्मू, हैदराबाद, चेन्नई समेत देश के अलग अलग हिस्सों में पुलिस और सुरक्षाबल लगातार लोगों और गाड़ियों की तलाशी ले रहे हैं। किसी भी संदिग्ध गाड़ी या फिर शख्स को बिना चेकिंग के जाने नहीं दिया जा रहा है।

लाल किला और आसपास के इलाकों में सुरक्षा बढ़ाने के अलावा पूरी राजधानी में खासतौर पर बाजारों, मॉल्स और भीड़-भाड़ वाले इलाकों में सुरक्षा बढ़ाई गई है।

red ford

दिल्ली की सड़कों पर वाहनों और चालकों की जांच के लिए सैकड़ों पुलिस अवरोधक लगाए गए हैं।

red ford_1

अधिकारी ने कहा कि लाल किले के सामने और आसपास के रिहायसी इलाकों की अच्छी तरह से जांच की गई है। दिल्ली और आसपास के इलाकों में पुलिस ने होटलों और अतिथि गृहों की जांच की है। मुगल स्मारक और इससे लगे पांच किमी के इलाके में दिल्ली पुलिस के करीब 9,000 सुरक्षाकर्मी, अर्धसैनिक बलों और राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) की तैनाती की गई है।

25265

इसमें वरिष्ठ राजनेता, राजनयिक और सैन्यकर्मियों के अलावा हजारों आम नागरिक और बच्चे शामिल होंगे। समारोह स्थल की जमीनी सुरक्षा के साथ हवाई सुरक्षा व्यवस्था भी की गई है।

लालकिले में और चारों तरफ करीब 500 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इस विशाल स्मारक पर उच्च-रिजोल्यूशन क्षमता वाले कैमरे लगाए गए हैं। पुलिस ने सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए करीब 3,000 पेड़ों की छंटाई की है।

India-Independene-Day-1

आखिर 15 अगस्‍त को ही क्‍यों मिली देश को आजादी?

सुरक्षा अधिकारियों को मुख्य बाजारों, हवाईअड्डा, रेलवे स्टेशन और अंतरराज्यीय बस टर्मिनल, दिल्ली मेट्रो स्टेशन और सामरिक महत्व के स्थलों पर तैनात किया गया है। लाल किले की तरफ जाने वाले मार्गो -नेताजी सुभाष मार्ग, एसपी मुखर्जी मार्ग, चांदनी चौक रोड, निषाद राज मार्ग और लिंक रोड को सोमवार सुबह पांच बजे से चार घंटों के लिए सामान्य यातायात के लिए बंद किया गया है।

loading...