बॉर्डर पर जाने को मचल रहे नागा साधु, कहा- एक बार आगे बढ़ गए, तो फिर…

28802

बैठक इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि बैठक में भारत-पाकिस्तान के बीच चल रही तल्खियों को लेकर संत समाज एक प्रस्ताव पास कर केंद्र सरकार को भेजने वाला है।

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें
article-2677018-1f4f06c700000578-986_964x680
पाक के खिलाफ संत तैयार
बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा होगा कि अगर पाक पर कार्रवाई करने के लिए सरकार को संतों की और नागा फौज की जरूरत पड़ती है, तो नागा साधु तैयार हैं। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष का कहना है कि संतों को शास्त्र के साथ-साथ शस्त्र का भी पूरा ज्ञान करवाया जाता है इसलिए बैठक में यह मुद्दा मुख्य रूप से लिया जायेगा।

जूना निरंजनी सहित कई अखाड़ों के पास बड़ी नागा सन्यासियों की फौज है, अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी कहते हैं कि साधुओं ने मुगलों से टक्कर ली थी, वैसे ही वे पाक से भी लड़ने को तैयार हैं और एक बार नागा आगे बढ़े तो फिर वे पीछे नहीं हटेंगे।

राज्य को घेरेंगे संत
इस बैठक का दूसरा मुख्य मुद्दा है राज्य सरकार को घेरने का। साधुओं का कहना है कि राज्य सरकार ने धार्मिक आश्रम और तमाम मठों पर कर बढ़ा दिया है। संतों का कहना है कि वे राज्य सरकार से मांग करेंगे कि इसे कम किया जाए। अगर राज्य सरकार ऐसा नहीं करती है, तो उसका कड़ा विरोध किया जायेगा।

राज्य के साथ-साथ इस बैठक में केंद्र की नमामि गंगे पर भी चर्चा होगी। संत बैठक में केंद्र से ये भी मांग करेंगे कि गंगा के लिए चलाई जा रही नमामि गंगे योजना में संतों की भी भागीदारी होनी चाहिए।

source: ennaduindia

loading...