गौ तस्करी पर सर्जिकल स्ट्राइक की तैयारी में मोदी सरकार, एक भी गाय इधर-उधर हुई तो पता ऐसे चलेगा…

21760

cow-with-modi

मोदी सरकार के आने के बाद देश ने अचानक से विकास करना शुरू कर दिया ! सबसे पहले मोदी सरकार ने पाकिस्तान को आतंकवाद पर सबक सिखाने के लिए LOC पार जाकर सर्जिकल स्ट्राइक करवाया ! और आतंकवादी संगठनो को जबरदस्त झटका दिया है ! उसके बाद पुराने 500 और 1000 के नोट बंद करने के लिए नोटबंदी की है, जिससे बड़ी मात्रा में कालेधन को बाहर लाने में मदद मिली है ! अगला निशाना मोदी सरकार का गौ तस्करी को रोकना है ! और उसके लिए योजना भी बन चुकी है ! ये खबर सुनकर गौ तस्करी करने वालो की नींद उड़ी हुई है !

गौ तस्करी रोकने वाली योजना के अनुसार गौ तस्करी बंद हो जाएगी और दूध और डेरी उत्पादन के काम को बढ़ाया जायेगा ! ऐसा करने से उन सभी किसानो को फायदा मिलेगा जो दूध और डेरी उत्पादन से जुड़े हुए है !

मोदी सरकार अब गौ तस्करी रोकने के लिए गाय और भैंसों का भी आधार कार्ड बनाने जा रही है ! इस आधार कार्ड का वजन 8 ग्राम का होगा, और ये गायो और भैंसों के कान में लगाया जायेगा ! दूध देने वाले पशुओ का आधार कार्ड बनाने की योजना पशुपालन मंत्रालय की तरफ से आई है ! इससे पशुओ की गणना करने में आसानी होगी ! पशुपालन विभाग के कर्मचारी पूरे भारत में घूम घूम कर लगभग 1 लाख गाय और भैसों का आधार कार्ड बनाने के लिए पशुओ पर टैग लगायेंगे, इसके लिए स्टाफ के कर्मचारियों को 50 हजार टेबलेट भी दे दिए गए है !

aadhar-card

मोदी सरकार की योजना के अनुसार इस वर्ष लगभग 88 मिलियन दुधारू गाय और भैंसों की पहचान की जाएगी ! और उनका आधार कार्ड बनाकर उसके युआईडी नंबर को गाय और भैंसों के कान में लगाकर सेट कर दिया जाये ! युआईडी के अंतर्गत आने वाले सभी दुधारू पशुओ के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखा जायेगा ! उसको समय पर टीका लगाया जायेगा ! और गौ तस्करी करने वालो पर भी विशेष नजर रखी जाएगी ! देश के सभी भागो से गाय और भैंसों की तस्करी के बाद उन्ही हत्या का मुद्दा उठ रहा है ! इसलिए मोदी सरकार कुछ महत्वपूर्ण फैसले लेने जा रही है !

मोदी सरकार के अनुसार 2022 तक सभी डेयरी किसानो की आय दुगनी करने का लक्ष्य रखा गया है ! आधार कार्ड के युआईडी टैग की कीमत 8 रूपये होगी ! उन आलोचकों को भी झटका लगने वाला है जो कहते है कि मोदी सरकार किसानो के लिए क्या कर रही है ?

पशुओ की संख्या के आधार पर उत्तर प्रदेश पहले नंबर पर आता है, यहाँ पर पशुओ की संख्या 1.6 करोड़ है, मध्यप्रदेश में पशुओ की संख्या 90 लाख है, राजस्थान में 84 लाख, गुजरात में 62 लाख, आंध्रप्रदेश में 54 लाख दुधारू पशु है ! मोदी सरकार का पशुपालन मंत्रालय पशुओ का आधार कार्ड बनाने की शुरुवात उत्तर प्रदेश से कर चुका है !

पशुओ के लिए इतनी बड़ी संख्या में आधार कार्ड बनाना बहुत ही कठिन काम है ! ये युआईडी वाला टैग पीले रंग का दो टुकडो में बंटा होगा, इसको दुधारू पशुओ के कान में एक दुसरे टूल की मदद से लगाया जाएगा ! इस टैग का भार 8 ग्राम होगा इससे पशुओ को कोई भारीपन नहीं लगेगा ! इस टैग को एक बार लगाने ले बाद दोबारा नहीं खोल सकते ! इस टैग में 12 नंबर का एक यूनीक नंबर होगा ! और प्रत्येक पशु के लिए अलग अलग नंबर दिया जायेगा ! ये टैग ऐसे मेटीरियल से बना होगा जो न तो खराब हो सके और न ही उससे पशुओ को कोई नुकसान पहुंचे !

गाय और भैंसों को टैग लगाने के बाद पशु के मालिक को एक एनिमल हेल्थ कार्ड दिया जायेगा ! इस एनिमल हेल्थ कार्ड में मालिक का आधार कार्ड नंबर, मालिक का पूरा विवरण, पशुओ की ब्रीड और उनका टीकाकरण की सारी जानकारी उपलब्ध होगी ! इस कार्ड से पशुओ का स्वास्थ, उनकी ब्रीडिंग पर भी नजर रख सकेंगे !

टैग लगाने के लिए 50 हजार टैग एप्लीकेटर (टैग लगाने वाला उपकरण) और इतनी ही मात्रा में टेबलेट का प्रयोग होगा, टेबलेट के द्वारा इन सबका नेशनल ऑनलाइन डाटाबेस में यूनिक कोड के साथ अपडेट किया जायेगा !

ऐसा होने के बाद गौ तस्करों को परेशानी होगी ! अगर कोई गाय या भैंस आवारा घूम रही होगी तो सरकार को उसकी रिपोर्ट मिल जाएगी ! और अगर कोई चोरी करने की कोशिश करेगा तब भी सरकार को पता चल जायेगा ! आने वाले समय में गौहत्या करने के लिए गौ तस्करी पर लगाम लगेगी, दूध और डेयरी उत्पादन करने वाले किसानो की आय में बढ़ोतरी होगी !

x
loading...
SHARE