मोदी सरकार ने सेना को दिया आदेश कहा – आतंकियों पर बिना गिने गोलियां चलाओ, कोई हिसाब नहीं मांगेगा

कश्मीर। जम्मू-कश्मीर में लगातार कई दिनों से हो रहे आतंकी हमलों पर हाल ही में सेना प्रमुख बिपिन रावत ने बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि कश्मीर वासियों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि जो लोग आतंकियों का साथ दे रहे हें उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। जिसका समर्थन करते हुए रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि कश्मीर में आर्मी पर पथराव करने वालों पर सख्त कार्रवाई करने के लिए सेना को खुली छूट दे दी है।

source: puridunia

मनोहर पर्रिकर ने सेना प्रमुख बिपिन रावत का किया समर्थन

मनोहर पर्रिकर ने कहा कि सेना हर कश्मीरी को आतंकवादी नहीं मानती है, लेकिन अगर कोई आर्मी के खिलाफ कुछ करे, तो मौजूद अधिकारी को फ्री हैंड होता है। पर्रिकर ने एक निजी चैनल से बातचीत में कहा कि सेना के ऑपरेशन में स्थानीय लेवल पर किसी ने रुकावट डालने की कोशिश की तो, उस समय कमांडिंग ऑफिसर को निर्णय लेने का पूरा अधिकार होता है। पर्रिकर ने कहा कि सेना हर कश्मीरी को आतंकियों का समर्थक नहीं मानती है, लेकिन जो आतकियों के साथ है, वह आतंकी ही है।

इससे पहले बिपिन रावत ने क्या कहा था

सेना प्रमुख ने कश्मीर वासियों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा था कि जो लोग आतंकियों का साथ दे रहे हें उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। उनके साथ भी सख्ती से निपटा जाएगा। उन्होंने कहा था कि कश्मीर में अगर पत्थर चलाओगे तो गोली खाओगे।  सेनाध्यक्ष की ये कड़ी चेतावनी जम्मू कश्मीर में उन लोगों के लिए थी, जो आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाबलों के ऑपरेशन में बाधा डालते हैं।

सेनाध्यक्ष रावत को ये बातें इसलिए कहनी पड़ी थीं क्योंकि तीन दिन पहले बांदीपुरा के हाजिन में जिस वक्त आतंकियों के साथ मुठभेड़ चल रही थी, उसी वक्त वहां प्रदर्शन और पत्थरबाजी भी हो रही थी। बिपिन रावत ने ये भी कहा था कि अभी तक हमने जो पीपल्स फ्रेंडली ऑपरेशन किए हैं उसके पीछे हमारा नजरिया यही है कि हमारे कुछ ऐसे नौजवान हैं जो सोशल मीडिया के जरिए इस रुख को अपना रहे हैं। लेकिन अगर उनका रवैया इसी तरह का रहा तो हम सख्ती से पेश आएंगे।

USE YOUR ← → (ARROW) KEYS TO BROWSE

loading...
loading...
SHARE