11 साल में रस्सी कूदती हैं लड़कियाँ, इस लड़की ने तो बिज़नेस में झंडे गाड़ दिए

933

हमने 11 साल की उम्र में क्या किया था???

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें

याद भी नहीं होगा सिवाए इसके कि स्कूल जाते थे, खेलते थे, टीवी देखते थे और सो जाते थे!

लेकिन अब वक़्त बदल रहा है और आज के बच्चे पहले के मुताबिक ज़्यादा स्मार्ट और इनोवेटिव हो रहे हैं!

ऐसी ही एक लड़की, 11 साल की मीरा मोदी, जो न्यू यॉर्क में रहती है, की कहानी है ये जो बाकी बच्चों से बहुत अलग है और अपना एक बिज़नेस चला रही है!

password
11 साल में रस्सी कूदती हैं लड़कियाँ, इस लड़की ने तो बिज़नेस में झंडे गाड़ दिए

छथि कक्षा में पढ़ती है मीरा और हाल ही में इन्होंने अपनी एक वेबसाइट खोली है जिस के ज़रिये ये लोगों को पासवर्ड बेचती हैं और वो भी वैध तरीके से! हम सब आजकल इंटरनेट के ज़रिये जुड़े हुए हैं और अलग-अलग वेबसाइट्स पर हमारे अकाउंट हैं| लेकिन हैकिंग भी उतनी ही बढ़ चुकी है और आये दिन ख़बरों में सुनते हैं कि किसी ने अकाउंट हैक करके पैसे चुरा लिए या हमारी सीक्रेट जानकारी चुरा ली! इस से बचने का एक रास्ता है कि ऐसा पासवर्ड चुना जाए जो कोई हैक ना कर सके! और इसी काम में महारथ हासिल कर रही हैं मीरा जो इस से बिज़नेस भी चला रही हैं!

मीरा पासवर्ड बनाती हैं डाइस कला से जो एक पुरानी और सोची-समझी कला है जिसके द्वारा बनाये गए पासवर्ड सुरक्षित और बेहतर होते हैं| ये कला कैसे काम करती है?

आईये बताऊँ!

सबसे पहले डाइस को फेंककर कोई भी रैंडम नंबर निकाले जाते हैं| उसके बाद उन्हें अगंरेज़ी एल्फ़ाबेट की एक लम्बी सी लिस्ट से मैच किया जाता है! अंत में उन्हें एक नोंसेंसिकल स्ट्रिंग से जोड़ा जाता है और जो मिलता है वो है एक बहुत ही मुश्किल पासवर्ड जिसे ब्रेक कर पाना नाकों चने चबाने जैसा है!

इस काम के लिए मीरा की मम्मी ने उन्हें प्रेरित किया| शुरुआत में तो मीरा लोगों से मिलकर उन्हें पासवर्ड देती थी लेकिन एक दिन में पढ़ाई और स्कूल के साथ आप कितने लोगों से मिल सकते हो? इसलिए उसे आईडिया आया कि क्यों ना इस बिज़नेस के लिए एक वेबसाइट खोल दी जाए! बस इस तरह शुरुआत हुई उसकी वेबसाइट dicewarepasswords.com की जो अब दिनों दिन मीरा के लिए नए आयाम खोलती जा रही है!

मीरा एक पासवर्ड के लिए $2 लेती हैं और पोस्ट के द्वारा लोगों को उनके पासवर्ड्स पहुँचाये जाते हैं! मीरा का कहना है कि जब ज़िन्दगी कम्प्यूटर्स पर इतनी ज़्यादा निर्भर हो चुकी है तो पासवर्ड्स भी स्ट्रोंग होने बहुत ज़रूरी हैं!

अपनी इस छोटी-सी कोशिश से ना सिर्फ़ मीरा लोगों के ज़िन्दगी थोड़ी आसान बना रही है, बल्कि उस से अपने लिए पैसे भी कमा रही है! इतना ही नहीं, दूसरे बच्चों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत भी बन रही हैं मीरा मोदी!

ऐसे ही बच्चों की ज़रुरत है विश्व को आगे बढ़ने के लिए! आशा है ऐसे ही ढेरों मीरा पैदा हों और दुनिया को बेहतर बनाएँ!

 

loading...