कश्मीर भारत का था, भारत का है और भारत का ही रहेगा: महबूबा मुफ़्ती

28995

कश्मीर भारत का था, भारत का है और भारत का ही रहेगा : महबूबा मुफ़्ती

mehbooba-mufti

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने कल खादी हाट का उद्घाटन करते हुए कहा कि भारत-पाकिस्तान के बंटवारे में हमारी पीढ़ी की कोई भागीदारी नहीं थी परन्तु खामियाजा हम भुगत रहे है। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर का भविष्य भारतीय सविंधान में सुरक्षित है। जिस किसी ने कश्मीर का विलय भारत में किया, वह सुरक्षित फैसला था।

खादी हाट के समारोह में माइक्रो, स्माल एंड मीडिया इंटरप्राइजेज मंत्री कलराज मिश्र भी मौजूद थे। महबूबा मुफ़्ती ने समरोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि भारत-पाकिस्तान के विभाजन को 65 वर्ष हो गए है किन्तु कश्मीर में अस्थिरता अब भी बनी हुई है। हम माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रहकरतेहै कि वो हमें इस मुसीबत से निकलें। उन्होंने कहा कि अस्थिर माहौल होने के कारण कश्मीर पर्यटन क्षेत्र में अपनी क्षमताओं के अनुरुप लाभ नहीं उठा पा रहा है।

महबूबा मुफ़्ती ने जोर देते हुए कहा कि पडोसी मुल्क में रोज क़त्ल हो रहा है जोकि आम बात है। वंहा, कोई अपना मुंह खोल नहीं सकता है। पाकिस्तान में सत्य को दबा दिया जाता है। प्रधानमंत्री अली भुट्टो को फांसी पर लटका दिया। पाकिस्तान देश में अराजकता कायम है। मेरे पिता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के सहयोग से पाकिस्तान और भारत के बीच बस सेवा शुरू की गई थी। किन्तु ये भाईचारा अधिक दिन तक कायम नहीं रह सका। इसके आलावा भी कई महत्वपूर्ण कदम उठाये गए,  जिससे दोनों देशो में सौहार्द पैदा हुआ।

माननीय नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान जाकर एक ऐतहासिक कदम उठाया लेकिन दोनों देशों में ऐसे लोग है जो भारत-पाकिस्तान के रिश्ते में सुधार नहीं होने देना चाहते है। इसके लिए विपक्षी पार्टी जिम्मेदार है। अंत में उन्होंने कहा कि मेरे पिता कश्मीर के भारत में विलय को सही मानते थे और मैं भी इस बात से सहमत हूँ। आपको विश्वास दिलाता हूँ कि मेरा इरादा कभी नहीं बदलेगा। कश्मीर भारत का था, भारत का है और भारत की ही रहेगा।

x
loading...
SHARE