ISRO ने भारत को बनाया अन्तरिक्ष का बादशाह

ISRO ने भारत को बनाया अन्तरिक्ष का बादशाह  : इसरो यानी Indian Space Research Organisation के वैज्ञानिकों की मेहनत की बदौलत आज भारत स्पेस का बादशाह बन गया है। अंतरिक्ष की दुनिया में भारत का कद अब आसमान जितना ऊंचा हो गया है। बुधवार सुबह 9 बजकर 25 मिनट पर श्रीहरि-कोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से, PSLV-C34 के लॉन्च के साथ ही भारत ने सपनों वाली उड़ान भरी। ISRO ने एक साथ 20 Satellites लॉन्च करके एक नया रिकॉर्ड बनाया है, सिर्फ 26 मिनट के अंदर भारत ने पूरी दुनिया को एहसास दिला दिया कि अंतरिक्ष की दुनिया में भारत, अब एक बड़ा खिलाड़ी बन गया है।

ISRO ने भारत को बनाया अन्तरिक्ष का बादशाह
ISRO ने भारत को बनाया अन्तरिक्ष का बादशाह

– PSLV-C34 से जो Satellite अतंरिक्ष में भेजे गए हैं, उनमें भारत के तीन Satellites हैं।

– 17 Satellites विदेशी हैं जिनमें 13 अमेरिका के हैं, जबकि 4 Satellites कनाडा, जर्मनी और इंडोनेशिया के हैं।

– श्रीहरि-कोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से, लॉन्च के 26 मिनट 30 सेकेंड के बाद सभी Satellites अंतरिक्ष में पहुंचा दिए गए।

ISRO-RLV-TD
ISRO ने भारत को बनाया अन्तरिक्ष का बादशाह

– PSLV-C34 के साथ अंतरिक्ष में भेजे जाने वाले 20 Satellites का कुल वज़न क़रीब 1 हज़ार 288 किलोग्राम है।

– इन सभी Satellites को 505 किलोमीटर की ऊंचाई पर, इनकी Orbit में पहुंचाया गया है।

– जिन 17 विदेशी Satellites को अंतरिक्ष में भेजा गया है, वो व्यावसायिक हैं, और इनसे ISRO को कमाई होगी।

ISRO ने भारत को बनाया अन्तरिक्ष का बादशाह
ISRO ने भारत को बनाया अन्तरिक्ष का बादशाह

– PSLV भारत का अपना बनाया हुआ Rocket है, जो 44 मीटर ऊंचा है, यानी साधारण भाषा में कहें तो ये सात मंज़िला इमारत से भी बड़ा है।

– ISRO ने मंगलयान और चंद्रयान को भी PSLV की मदद से ही अंतरिक्ष में भेजा था। इससे पहले वर्ष 2008 में, ISRO ने एक साथ 10 Satellites लॉन्च किए थे।

– ISRO की इस सफलता के साथ ही, भारत Single Mission में, सबसे ज़्यादा Satellite भेजने के मामले में, अमेरिका और Russia के Elite Club में शामिल हो गया है।

– अमेरिका ने वर्ष 2013 में 29, जबकि Russia ने 2014 में एक साथ 33 Satellites अंतरिक्ष में भेजे थे।

– इसके अलावा अपनी 36वीं उड़ान के साथ PSLV दुनिया का सबसे भरोसेमंद Satellite Launch Vehicle बन गया है।

ISRO ने भारत को बनाया अन्तरिक्ष का बादशाह
ISRO ने भारत को बनाया अन्तरिक्ष का बादशाह

– 1993 से लेकर अब तक ISRO ने PSLV की मदद से, 39 भारतीय और 74 विदेशी Satellites अंतरिक्ष में पहुंचाए हैं।

– इस Launching में अमेरिका के कुल 13 Satellites शामिल हैं, जिसमें google का Earth Imaging Satellite भी है, जो 110 किलोग्राम का है।

– PSLV-C34 की क़ामयाब Launching के लिए ‘बी जयाकुमार’ का नाम सबसे अहम है, क्योंकि वो इसके Mission Director थे।

– Vehicle Director मिस्टर R. Hutton और Spacecraft Director मिस्टर एम ए सदानंद राव (MA Sadananda Rao) ने भी, अंतरिक्ष में भारत की नई उड़ान में बड़ी भूमिका अदा की है।

इसरो ने सातवें नेवीगेशन सैटेलाइट ‘IRNSS 1 G’ को कामयाबी के साथ किया लॉन्च

– PSLV-C34 से जिन 20 Satellites को अंतरिक्ष में भेजा गया है उनमें से एक स्वदेशी Satellite को कुछ छात्रों ने मिलकर तैयार किया है जिसका नाम है ‘स्वयं’। इसे पुणे के कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग के छात्रों की टीम ने तैयार किया है।

– ISRO, Satellite Launching से अब तक 660 करोड़ रुपए की कमाई कर चुका है।

– भारत का PSLV तेज़ी से दुनिया के दूसरे देशों की पसंद बनता जा रहा है…

– 1980 तक अंतरिक्ष के बाज़ार में अमेरिका का 100 प्रतिशत कब्ज़ा था, जो अब घटकर 60 प्रतिशत रह गया है।

ISRO ने भारत को बनाया अन्तरिक्ष का बादशाह

USE YOUR ← → (ARROW) KEYS TO BROWSE

loading...
loading...
SHARE