भारतीय सेना के ये 10 अनमोल वचन जो हर हिंदुस्तानी के दिल में जोश भर देगा !

भारतीय सेना के जवान देश की सरहद पर तैनात होकर दिन-रात दुश्मनों से उसकी रखवाली करते हैं तब जाकर देश की करोड़ों जनता अपने घरों में सुकून से सोती है.

हमारी सेना का हर जवान देश के नाम मर मिटने का जज्बा रखता है और देश की तरफ आंख उठाकर देखनेवाले दुश्मनों का नामों निशां तक मिटा देता है.

पूरा देश आज़ आज़ादी के जश्न में डूबा हुआ है ऐसे में आज हम आपको बताते हैं भारतीय सेना के अनमोल वचन, जो हर हिंदुस्तानी के दिल में जोश भर देने के काफी है.

indian-army-1

भारतीय सेना के अनमोल वचन –

1 – “मैं तिरंगा फहराकर वापस आऊंगा या फिर तिरंगे में लिपटकर आऊंगा, लेकिन मैं वापस ज़रूर आऊंगा.”

–  कैप्टन विक्रम बत्रा, परम वीर चक्र.

2 – “जो आपके लिए जीवनभर का असाधारण रोमांच है, वो हमारी रोजमर्रा की जिंदगी है.”

– लेह-लद्दाख राजमार्ग पर साइनबोर्ड (भारतीय सेना).

3 – “यदि अपना शौर्य सिद्ध करने से पूर्व मेरी मृत्यु आ जाए तो ये मेरी कसम है कि मैं मृत्यु को ही मार डालूंगा.”

–  कैप्टन मनोज कुमार पांडे, परम वीर चक्र, 1/11 गोरखा राइफल्स.

4 – “हमारा झंडा इसलिए नहीं फहराता कि हवा चल रही होती है, ये हर उस जवान की आखिरी सांस से फहराता है जो इसकी रक्षा में अपने प्राणों को न्योछावर कर देता है.”

–  भारतीय सेना.

आगे स्लाइड पर NEXT करके पढ़ें और अनमोल वचन क्लिक करें…

USE YOUR ← → (ARROW) KEYS TO BROWSE

loading...
loading...
SHARE