अब आंतकियों की ख़ैर नहीं, 30 हज़ार फ़ीट से देश की सीमाओं की चौकसी करेगा मिसाइल से लैस ड्रोन !!

भारत सरकार और सुरक्षा विभाग देश की सुरक्षा को मजबूत करने के लिए कई तरह के प्रयास कर रही है. देश की सीमाओं पर कड़ी चौकसी करने के लिए नए-नए तरीके इस्तेमाल किए जा रहे हैं. इसी कड़ी में भारतीय सरकार और सेना ने मिल कर आतंकियों और घुसपैठियों को सबक सिखाने के लिए नया तरीका खोज निकाला है.

Source: topyaps

आसमान से अब देश की सीमाओं की रक्षा ड्रोन करेगा. अभी तक भारतीय सेना ड्रोन के सहारे सिर्फ़ इलाकों पर नज़र रख सकती थी, लेकिन इस नए ड्रोन की सहायता से आंतकियों पर हमले भी किए जा सकेंगे. ये ड्रोन मिसाइल कैरी कर सकता है और आंतकियों के ठिकानों पर बमबारी करने की क्षमता रखता है.

Source: topyaps

इस ड्रोन को भारतीय वायु सेना और इज़राइल सेना ने मिल कर बनाया है. इसे बनाने में करीब 10 हज़ार करोड़ का खर्च आया है. इस ड्रोन की सहायता से उन इलाकों पर भी नज़र रखी जा सकेगी, जिसमें पहले मुश्किलें आती थीं.

इस ड्रोन की ख़ासियत है कि वो 30 हज़ार फ़ीट की ऊंचाई से भी निशाना लगा सकता है और पूरे आंतकी कैम्प को खत्म कर सकता है. ड्रोन से किए गए हमलों से सेना के जान-माल की हानि में काफ़ी कमी भी आएगी और ये एक अच्छी ख़बर है.

Source: topyaps

कश्मीर में आंतकियों को सबक सिखाने में ये ड्रोन काफ़ी सहायक होगा. इतनी ऊंचाई से ड्रोन आतंकियों का सफ़ाया करने में काफ़ी कारगर होगा. जंगल में जहां आतंकियों को खोज पाना काफ़ी मुश्किल होता है, वहीं ये ड्रोन आसानी से इनका पता लगा इन्हें मार गिराएगा.

इज़राइल से करीब 200 ड्रोन्स को खरीदा गया है. जिन्हें चीन और पाकिस्तान के बॉर्डर पर निगरानी के लिए लगाया जाएगा.

Source: topyaps

देश की सुरक्षा के लिए भारतीय सरकार और सेना का ये कदम काफ़ी सहारनीय है और इससे अब आंतकियों को न सिर्फ़ खोजना, बल्कि उनका सफ़ाया करना मुश्किल नहीं होगा.

USE YOUR ← → (ARROW) KEYS TO BROWSE

loading...
loading...
SHARE