अब चीन से नहीं डरेगा भारत, अमेरिका से खरीदीं 145 M-777 होवित्जर तोपें

नई दिल्ली। भारत और अमेरिका ने बुधवार को 145 एम 777 हल्के हॉवित्जर तोप खरीदने की डील फाइनल कर ली है। करीब 30 साल बाद इंडियन आर्मी को विदेशी तोप मिलने जा रही है। ये डील 5 हजार करोड़ रुपए में हुई। इन तोपों को चीन के साथ सीमा के निकट तैनात किया जाएगा।

howitzer-008

हॉवित्जर डील : अमेरिका से खरीदी गईं ये तोप चीन बॉर्डर के पास तैनात की जाएंगी 

 30 साल पहले भारत ने स्वीडन से बोफोर्स तोपें खरीदी थीं। इस डील में कमीशन को लेकर काफी विवाद हुआ था। इसके बाद से भारत और अमेरिका के बीच तोप डील पर बातचीत होती रही, लेकिन किसी नतीजे पर नहीं पहुंचा जा सका। अमेरिका से खरीदी जाने वाली ये तोप चीन बॉर्डर पर तैनात की जाएंगी।

इस सौदे पर नई दिल्ली में शुरू हुई भारत-अमेरिका सहयोग समूह (एमसीजी) की दो दिवसीय बैठक में हस्ताक्षर किया गया। भारत-अमेरिका एमसीजी एक मंच है जिसकी स्थापना रणनीतिक और संचालन के स्तर पर एचक्यू इंटिग्रेटेड डिफेंस स्टाफ और अमेरिकी पैसिफिक कमान के बीच रक्षा सहयोग को बढ़ाने के लिए किया गया था। बैठक अमेरिकी सह-अध्यक्ष लेफ्टिनेंट जनरल डेविड एच बर्जर, कमांडर अमेरिकी नौसैनिक कोर बल, पैसिफिक के लेफ्टिनेंट जनरल सतीश दुआ, सीआईएससी, एचक्यू आईडीएस से मुलाकात के साथ शुरू हुई। एमसीजी बैठक की सह-अध्यक्षता एयर मार्शल ए एस भोंसले डीसीआईडीएस (ऑपरेशंस), एच क्यू आईडीएस ने की।

हॉवित्जर की खास बातें 

हॉवित्जर तोपें दूसरी तोपों के मुकाबले बेहद हलकी हैं। इनको एक जगह से दूसरी जगह बिल्कुल साधारण तरीके से पहुंचाया जा सकता है। इसके अलावा इन्हें ऑपरेट करना भी बेहद आसान है। इनको बनाने में टाइटेनियम का इस्तेमाल किया गया है। यह 25 किलोमीटर दूर तक बिल्कुट सटीक तरीके से टारगेट हिट कर सकती हैं। चीन से निपटने में तो ये तोपें काफी कारगर साबित हो सकती हैं। भारत ये तोपें अपनी 17 माउंटेन कॉर्प्स में तैनात कर सकता है।

हॉवित्जर M777 का वजन सिर्फ 4,200 किलोग्राम है। जबकि इंडियन आर्मी जिन बोफोर्स तोपों का इस्तेमाल कर रही है उनमें हर एक का वजह 13,100 किलोग्राम है। वजन और मारक क्षमता के लिहाज से ये दुनिया की सबसे कारगर तोप मानी जाती है। यही वजह है कि अमेरिका ने इसे सिर्फ कनाडा, ऑस्ट्रेलिया के बाद इसे भारत को बेचने का फैसला किया है। ये 20 से 50 किलोमीटर के टारगेट को आसानी और पूरी सटीकता से हिट कर सकती है। इसे टारगेट के एल्टीट्यूड (ऊंचाई) के हिसाब से फिक्स किया जा सकता है।

USE YOUR ← → (ARROW) KEYS TO BROWSE

loading...
loading...
SHARE