कई शताब्दियों पूर्व चाणक्य ने की थी हिप्नोटिज्म की खोज

1927
Prev1 of 2Next
Use your ← → (arrow) keys to browse

कई शताब्दियों पूर्व चाणक्य ने की थी हिप्नोटिज्म की खोज

कहीं भी, कभी भी बिना किसी वशीकरण मंत्र के किसी को भी हिप्नोटाइज किया जा सकता है ! यह हिप्नोटिज्म पर्सन टू पर्सन, उसके नेचर (स्वभाव) के अनुसार बदल भी सकता है लेकिन अक्सर हिप्नोटिज्म का यह कलयुगी तरीका काम कर जाता है ! हालांकि आप जानकर हैरान होंगे कि यह आधुनिक युग की देन नहीं है बल्कि कई शताब्दियों पहले ही इसकी खोज की जा चुकी थी ! हां, यह और बात है कि आज यह हिप्नोटिज्म कुछ अधिक ही कारगर है और शायद बहुत कम लोग होंगे जिन पर यह काम नहीं करता !

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें

चाणक्य नीति तो सुनी होगी आपने ! राजनीति में चाणक्य नीति हमेशा माननीय रही है ! जानकर हैरानी होगी कि ज्योतिष से कोई नाता न होते हुए भी बिना मंत्र किसी को भी हिप्नोटाइज करने का यह आसान तरीका चाणक्य ने ही बताया है जो आज कई जगह धड़ल्ले से प्रयोग भी हो रहा है !

Self-Hypnosis-and-Mind-Power

न मंत्र, न खास जगह, फिर भी हो जाता है इंसान हिप्नोटाइज

चाणक्य नीति में इंसानों के स्वभाव पर बहुत गूढ़ बातें कही गई हैं ! इसी के विस्तारण में चाणक्य ने इंसानी स्वभाव के अनुसार उसे आसानी से हिप्नोटाइज कर सकने की बात कही है ! इसके अनुसार लोभी, पाखंडी, लालची, धनी, मूर्ख, दानी, बुद्धिमान जैसे अलग-अलग स्वभावों वाले कई प्रकार के लोग होते हैं ! हिप्नोटाइज करने के लिए बस किसी का स्वभाव जानना जरूरी होता है फिर आसानी से उसे हिप्नोटाइज किया जा सकता है !

अगली स्लाइड में जाने कैसे आप लोगों को बस में कर सकते हैं next पर क्लिक करें

Prev1 of 2Next
Use your ← → (arrow) keys to browse
loading...