हाफिज सईद के संपर्क में था बुरहान वानी, मुठभेड़ से पहले की थी बात

हाफिज सईद के संपर्क में था बुरहान वानी, मुठभेड़ से पहले की थी बात

हाफिज सईद के संपर्क में था बुरहान वानी, मुठभेड़ से पहले की थी बात : मुंबई हमलों के गुनहगार हाफिज सईद कस्मीर में मारे गए हिजबुल कमांडर बुरहान वानी के संपर्क में था. आज ये खुलासा खुद हाफिज सईद ने पाकिस्तान के गुजरांवाला में किया है.

हाफिज सईद ने कहा कि बुरहान ने मुठभेड़ से पहले उससे हिंदुस्तानी फौज को मात देने की रणनीति पर चर्चा की थी. भारतीय सेना ने बुरहान वानी को 8 जुलाई को मुठभेड़ में मार गिराया था. बुरहान वानी पर 10 लाख रुपये का ईनाम था.

हाफिज सईद के इस खुलासे के बाद भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने बुरहान के कॉल रिकॉर्ड की पड़ताल की तो पता चला कि एनकाउंटर से पहले बुरहान के नंबर से पाकिस्तान में कई कॉल किए गए थे. जिसमें मुमकिन है कि हाफिज सईद से भी बात हुई हो.

हाफिज सईद के संपर्क में था बुरहान वानी, मुठभेड़ से पहले की थी बात
हाफिज सईद के संपर्क में था बुरहान वानी, मुठभेड़ से पहले की थी बात

आपको बता दें इससे पहले खुलासा हुआ था कि हाफिस सईद और सैयद सलाउद्दीन ने कश्मीर में आतंक फैलाने के लिए पाकिस्तान से हवाला के जरिए 50-60 करोड़ रुपये भेजे थे. इसके लिए पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में आईएसआई के अधिकारियो और हाफिज सईद के साथ साथ सलाउद्दीन के साथ बैठक की थी. इस बैठक में जैश के कमांडर अब्दुर रऊफ भी मौजूद था. खुलासा हुआ है कि पिछले एक साल में करीब 100 करोड़ रुपये हवाला के जरिये कश्मीर घाटी में भेजा गया.

बुरहान वानी के मारे जाने के बाद घाटी में हिंसा फ़ैलाने के लिए सभी आतंकियों ने मिलकर घाटी में अशांति फ़ैलाने के लिए 4 नए कमांडर बनाये. घाटी की स्थिति को और बिगाड़ने को लेकर हाफिज और सलाउद्दीन ने पाकिस्तान स्थित कंट्रोल रूम के जरिए घाटी में अपने हैंडलर्स के संपर्क में था.

आपको बता दें कल संसद में कश्मीर मुद्दे पर चर्चा के दौरान गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को खरी खरी सुनाई थी. राजनाथ ने कहा कि कश्मीर के नौजवानों को कुछ ताकतें बरगलाने की कोशिश करती हैं. उन्हें आजादी की बात कहकर उकसाया जाता है. कश्मीर में जनमत संग्रह का अब कोई महत्व नहीं है. यह अप्रासंगिक बात हो गयी है.

MUST READ : भारत की 10 ऐसी बातें जिससे जलता है पाकिस्तान

MUST READ : चीन को पछाड़ भारत बनेगा #MTCR का पूर्ण सदस्य, #NSG सदस्यता मिलने का रास्ता भी खुला

गृह मंत्री के संसद में दिए बयान के मुताबिक कश्मीर में हाल में 566 हिंसा की घटनाएं हुईं हैं. जिसमें 25 संपत्तियों में आग लगाई गई. 49 संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया गया है. हिंसक घटनओं में 36 आम लोगों को मौत हुई और एक जवान भी शहीद हुआ है. कुल 1948 सामान्य नागरिक घायल हुए हैं. इसमें 1744 को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है. इन घटनाओं में 1671 सुरक्षा कर्मी भी घायल हुए हैं.

हाफिज सईद के संपर्क में था बुरहान वानी, मुठभेड़ से पहले की थी बात

loading...

Facebook Comments

You may also like

बीजेपी ने जारी की यूपी के उम्मीदवारों की लिस्ट! इनको दिया गया टिकट

लखनऊ: बीजेपी ने यूपी चुनाव 2017 को देखते