#ExitPoll: #असम में बन सकती है #BJP की सरकार

290

#असम में बन सकती है #BJP की सरकार नई दिल्ली. पांच राज्यों में  दो महीने से चल रहे Assembly Election  सोमवार को तमिलनाडु, केरल और पुड्डुचेरी में वोटिंग के साथ खत्म हुए। असम के एग्जिट पोल में बीजेपी की सरकार बनते दिख रही है। दो सर्वे में बीजेपी सरकार बनाती दिख रही है। एबीपी-नील्सन के सर्वे में बीजेपी को 81 सीट मिल रही है।

आकर्षक ऑफर के लिए यहाँ क्लिक करें
#ExitPoll: #असम में बन सकती है #BJP की सरकार
#ExitPoll: #असम में बन सकती है #BJP की सरकार

सर्वे के नतीजे…

इंडिया टुडे-एक्सिस के एग्जिट पोल में

BJP+ को 79-93.

Congress को 26-33

AIUDF को 6-10

एबीपी-नील्सन का सर्वे

कुल सीट- 126

बीजेपी- 81

कांग्रेस- 33

एआईयूडीएलएफ- 10

अन्य- 02

बंगाल-तमिलनाडु-असम और केरल में क्या हैं समीकरण…

वेस्ट बंगाल

सीएम ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस ने अकेले चुनाव लड़ा। बीजेपी ने तीन सीटें गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के लिए छोड़ीं। बाकी सभी सीटों पर कैंडिडेट उतारे। लेफ्ट ने कांग्रेस के साथ गठबंधन किया।

असम

रूलिंग पार्टी कांग्रेस अकेली चुनाव में उतरी। बीजेपी ने असम गण परिषद और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट के साथ गठबंधन किया। बदरुद्दीन की पार्टी AIUDF ने आरजेडी और जेडीयू के साथ थर्ड फ्रंट बनाया।

तमिलनाडु

सीएम जयललिता की पार्टी AIADMK ने 227 सीटों पर चुनाव लड़ा। बाकी सात सीटें पांच छोटी सहयोगी पार्टियों के लिए छोड़ दीं। DMK ने कांग्रेस और दो छोटी पार्टियों के साथ गठबंधन किया है। BJP ने तीन छोटी पार्टियों के साथ गठबंधन किया।

केरल

कांग्रेस और सहयोगियों के गठबंधन यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (UDF) ने यहां पांच साल सरकार चलाई। लेफ्ट डेमाक्रेटिक फ्रंट (LDF) ने यहां 93 साल के वीएस अच्युतानंदन की लीडरशिप में कांग्रेस के खिलाफ चुनाव लड़ा। बीजेपी ने भारत धर्म जनसेना से गठबंधन कर 140 में से 37 सीटें दी थीं।

पुडुचेरी

पुडुचेरी में ऑल इंडिया एनआर कांग्रेस (AINRC) सत्ता में थी। इसे AIADMK और DMK ने चुनौती दी। DMK ने कांग्रेस के साथ गठबंधन किया।

क्या करिश्मा दोहरा पाएंगी ममता?

– पश्चिम बंगाल में 294 विधानसभा सीटों के लिए वोट डाले गए हैं।

– इस समय बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की ममता बनर्जी सत्ता में हैं।

– ममता ने 2011 में 34 साल से सत्ता में काबिज कम्युनिस्ट पार्टियों को हराया था।

– ममता की पार्टी को 2011 विधानसभा चुनाव में 184 सीटें मिली थीं।

तमिलनाडु में जयललिता और डीएमके में कौन पड़ेगा भारी?

-2011 में एआईएडीएमके की जे. जयललिता 234 में से 150 सीटें जीतकर सत्ता में आई थीं।

– पिछले पांच साल में कई बार वो सुर्खियों में रहीं। यहां तक कि उन्हें जेल जाना पड़ा और सीएम की कुर्सी छोड़नी पड़ी।

– जेल से रिहा होकर वो एक बार फिर सीएम की कुर्सी पर हैं।

– उनका मुकाबला करुणानिधि की पार्टी डीएमके से है। डीएमके को पिछले विधानसभा चुनाव में 23 सीटों से ही संतोष करना पड़ा था।

– लोकसभा चुनाव में मिली सफलता के बाद बीजेपी भी यहां अपने लिए संभावनाएं तलाश रही है।

MUST READ: विदेश दौरों पर महंगे होटल नहीं, Air India-One में सोते हैं PM Modi, जानें और खास बातें

BJP को असम से सबसे ज्यादा उम्मीद

– 2014 लोकसभा चुनाव में बीजेपी को 5 सीटें मिली थीं।

– हाल ही में उसने असम गण परिषद से हाथ मिलाया है।

– मोदी कैबिनेट में खेल मंत्री रहे सर्बानंद सोनोवाल को पार्टी पहले ही सीएम कैंडिडेट बना चुकी है।

-2014 के लोकसभा चुनावों से पहले ही बीजेपी में आए सोनोवाल इससे पहले असम गण परिषद के दिग्गज नेताओं में गिने जाते थे।

#असम में बन सकती है #BJP की सरकार

loading...