सर्वे : यूपी चुनाव में बीजेपी की लग सकती है लॉटरी, माया- मुलायम के लिये बुरी खबर !

11354
Prev1 of 2Next
Use your ← → (arrow) keys to browse
collage
source: indiatrendingnow

एबीपी न्यूज और सिसरो ने यूपी की आवाम से कुछ सवाल किये, इन सवालों के जवाब से लग रहा है कि इस विधानसभा चुनाव में बीजेपी की बल्ले-बल्ले हो सकती है।

New Delhi, Aug 03 : यूपी चुनाव में भले ही अभी करीब 6 महीने का समय बाकी हो, लेकिन अभी से न्यूज चैनलों और सर्वे एजेंसियों ने जनता का मूड भांपने की कोशिश कर दी है। राजनीतिक पार्टियां एक-दूसरे पर हमलावर है, 403 विधानसभा सीटों वाले प्रदेश में बहुमत की तैयारी जोरों पर है, कांग्रेस ने अपने पत्ते खोलते हुए दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित और सिने स्टार राज बब्बर को कमान सौंपी है, तो प्रियंका गांधी के रणनीतिक प्रयोग की घोषणा भी हो चुकी है। कांग्रेस के रणनीतिकार प्रशांत किशोर दांव पर दांव खेल रहे हैं।

एबीपी न्यूज और सिसरो ने यूपी की आवाम से कुछ सवाल किये, जैसे क्या प्रियंका गांधी यूपी में कांग्रेस की वापसी करा पाएंगी ?, अगर आज की तारीख में चुनाव हो तो यूपी में किसकी सरकार बनेगी, यूपी में सीएम पद का सबसे पसंदीदा चेहरा कौन है?, साथ ही यूपी के लोगों से ये भी सवाल पूछा गया कि यूपी में मतदाता किस आधार पर वोट करेंगे, यानि कि यूपी चुनाव का सबसे बड़ा मुद्दा क्या होगा ?

इन सवालों का जवाब जानने के लिये एबीपी और सिसरो ने यूपी की 10 विधानसभाओं में 1000 मतदाताओं के बीच 24 और 25 जुलाई के बीच एक सर्वे किया, विदित हो कि नतीजे में जो राजनीतिक सोच सामने आई है, उसमें गलती की गुंजाइश प्लस-माइनस फाइव है।

पहला सवाल यूपी के मतदाताओं से पूछा गया कि सीएम के तौर पर उनकी पहली पसंद कौन है ?, इस सवाल के जवाब में सबसे ज्यादा वर्तमान सीएम अखिलेश यादव को वोट मिला और करीब 28 फीसदी लोगों ने उन्हें अपनी पहली पसंद बताया. दूसरे नंबर पर पूर्व सीएम और बसपा सुप्रीमो मायावती का नाम आया जिन्हें 25 फीसदी लोगों ने अपनी पहली पसंद बताया। तीसरे नंबर पर गोरखपुर से बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ को 17 फीसदी वोट मिले, चौथे नंबर पर बीजेपी के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य का नाम आया, जिन्हें 6 फीसदी वोट मिला, और पांचवें नंबर पर दिल्ली की पूर्व सीएम और कांग्रेस के सीएम उम्मीदवार घोषित शीला दीक्षित को 5 फीसदी लोगों ने अपनी पसंद बताया। जबकि 8 फीसदी अन्य के खाते में गया। इन सबके साथ ही 11 फीसदी लोग ऐसे भी मिले जिन्होने कोई जवाब नहीं दिया।

आगे पढ़ें- यूपी में किसकी बनेगी सरकार ?

Prev1 of 2Next
Use your ← → (arrow) keys to browse

x
loading...
SHARE