इस व्यक्ति की बात सुन लेते रेलवे के अफसर, तो बच जाती 150 से ज्यादा लोगों की जान

इंदौर। उत्तरप्रदेश के कानपुर देहात जिले में आज तड़के इंदौर-पटना एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतरने के कारण हुए भीषण हादसे के बाद एक व्यक्ति ने सनसनीखेज दावा किया। इस शख्स का कहना है कि कल इस रेल में घंटे भर के सफर के दौरान उसने रेल के पहियों की असामान्य आवाज सुनी थी और गाड़ी में सवार एक कथित रेलवे अधिकारी से इसका जिक्र भी किया था।

loading...

prakash-sharma

खुद को मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले के खेरखेड़ा गांव का निवासी बताने वाले प्रकाश शर्मा (35) ने बताया कि मैं इंदौर-पटना एक्सप्रेस के एस2 कोच में 19 नवंबर की दोपहर दो बजे के आसपास इंदौर में बैठा और घंटे भर बाद उज्जैन आने पर इससे उतर गया। इसी कोच में रेलवे की वर्दी पहने एक अधिकारी भी सवार थे जिन्होंने मुझे बताया था कि वह पटना जा रहे हैं। हालांकि, मुझे इस रेलवे अधिकारी का नाम पता नहीं है।

प्रकाश शर्मा ने कहा कि इंदौर-पटना एक्सप्रेस जब देवास से गुजरी, तो मैंने रेलवे अधिकारी को बताया कि इस रेल के पहियों से असामान्य आवाज आ रही है। लेकिन मेरी इस बात को गंभीरता से नहीं लिया गया। उन्होंने कहा कि मैं हादसे से करीब 12 घंटे पहले इंदौर-पटना एक्सप्रेस से उतर गया था। मुझे आज इस ट्रेन के दुर्घटनाग्रस्त होने की खबर मिली जिससे मैं दु:खी हूं। शर्मा के दावे पर फिलहाल रेलवे की प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी है। इस सिलसिले में रतलाम के मंडल रेल प्रबंधक (डीआरएम) मनोज शर्मा से बात करने कोशिश की गई। लेकिन कई प्रयासों के बावजूद उनसे संपर्क नहीं हो सका।

USE YOUR ← → (ARROW) KEYS TO BROWSE

loading...
loading...
SHARE