मोदी के हाथ लगी ऐसी चाबी अब मायावती नाचेगी इशारों पर

30890

मोदी के हाथ लगी ऐसी चाबी अब मायावती नाचेगी इशारों पर —> यूपी में जैसे-जैसे चुनाव करीब आ रहे हैं राजनीतिक दलों को अलग-अलग तरीकों से फंसाने का खेल भी शुरू हो गया है। केन्द्र सरकार के चंगुल में बसपा प्रमुख मायावती एक बार फिर फंसती हुई दिख रही हैं। मायावती के ऊपर आय से अधिक संपत्ति का मामला सुप्रीम कोर्ट में अभी शुरू ही हुआ था कि ईडी यानि प्रवर्तन निदेशालय ने भी शिकंजा कसना शुरू कर दिया है।

 यह भी पढ़ें : मायावती, कांशीराम को बौद्ध दीक्षा दिलाने वाले संत हुए मोदी भक्त

मायावती इस बार अपने भाई आनंद कुमार के कारण ईडी के शिकंजे में फंस गई हैं। लगभग 2000 करोड़ रुपए के हिसाब किताब को लेकर जल्द ईडी आनंद कुमार के गले में फंदा डालने जा रही है। सवाल ये है कि क्या सरकार आनंद कुमार की गिरफ्तारी के लिए ईडी को हरी झंडी देगी?

मोदी के हाथ लगी ऐसी चाबी अब मायावती नाचेगी इशारों पर
मोदी के हाथ लगी ऐसी चाबी अब मायावती नाचेगी इशारों पर

सूत्रों के मुताबिक वित्त मंत्रालय से ईडी को निर्देश हुए हैं की वो 2165.08 करोड़ रुपए के हस्तांतरण को लेकर आनंद कुमार पर कार्रवाई करे। इससे पहले ये फाइल ईडी के हेडक्वार्टर में धूल खा रही थी। सूत्रों ने बताया कि आनंद कुमार की कम्पनी DLA INFRASTRUCTURE PVT LTD और उससे जुडी कम्पनियों में जनवरी 2011 और सितम्बर 2014 के बीच 2149.5 करोड़ रुपए निकाले गए और 2165.08 करोड़ रुपए जमा किये गए। इतनी भारी रकम के स्त्रोत संदिग्ध बताए जा रहे हैं।

आनंद न सिर्फ M/s DLA Infrastructures (P) सजक के डायरेक्टर थे बल्कि HARMONY REAL DEVELOPERS PRIVATE LIMITED, OM PROJECTS PRIVATE LIMITED और DEVELOPERS PRIVATE LIMITED जैसी कम्पनियों के भी डायरेक्टर हैं। ये सभी कम्पनियां मायावती के 2007 में यूपी के मुख्यमंत्री बनने के बाद खोली गई हैं। ज्यादातर कम्पनियों में आनंद कुमार के साथ उनकी पत्नी विचित्र लता भी डायरेक्टर हैं।

यह भी पहें : कांशीराम की बहन बोलीं, मेरे भाई की हत्यारी है मायावती

ईडी ने इन कपंनियों की सूची सीबीआई को भी भेजी है जो आनंद कुमार की भूमिका की इंजीनियर यादव सिंह घोटाले में जांच कर रही है। सूत्रों के मुताबिक मायावती और उनके भाई आनंद कुमार के खिलाफ कार्रवाई को लेकर बीजेपी में दो मत हैं। बीजेपी को लगता है कि मायावती के भाई को गिरफ्तार करके भ्रष्टाचार पर प्रहार करना चाहिए लेकिन ये काम चुनाव नजदीक आने पर घातक साबित होगा। बीजेपी में एक मत का ये भी कहना है कि मायावती पर गिरफ्तारी की तलवार लटका कर उन्हें डिस्टर्ब किया जा सकता है जिससे बीएसपी की चुनावी तैयारी प्रभावित होगी।

यूपी में कमल खिलाने के लिए ये होंगे CM के दावेदार कई चौंकाने वाले नाम!

मोदी के हाथ लगी ऐसी चाबी अब मायावती नाचेगी इशारों पर

x
loading...
SHARE