भारतीयों ने दुनिया को बताये हैं ये 11 वैज्ञानिक तथ्य, जिन्हें ढूंढने में बाकी दुनिया को लगे हज़ारों साल

भारतीयों ने दुनिया को बताये हैं ये 11 वैज्ञानिक तथ्य, जिन्हें ढूंढने में बाकी दुनिया को लगे हज़ारों साल : इस बात में तो कोई शक़ नहीं है कि भारत में बड़े-बड़े विद्वान् हुए. लेकिन हज़ारों साल पुराने ग्रंथों में भी ऐसी बातें लिखी हैं, जिन्हें जानने में बाकी दुनिया को बहुत समय लगा. इन तथ्यों से पता चलता है कि भारत वैज्ञानिक उन्नति में हमेशा से बाकी देशों से आगे रहा है.

1. सौर-मंडल का अस्तित्व

Source: Emaze

ऋग्वेद में लिखा है- सूर्य के आस पास खगोलीय पिंड चक्कर लगाते हैं. आकर्षण के बल के कारण ये आपस में टकराते नहीं हैं.

2. गुरुत्वाकर्षण बल (Gravity)

ऋग्वेद में लिखा है- पृथ्वी के हाथ-पैर नहीं हैं, पर ये चलती है. इसके साथ सब कुछ घूम रहा है. ये सूर्य का चक्कर लगाती है.

3. प्रकाश की गति

Source: Universetoday

सयाना नाम के एक वैदिक विद्वान ने 14वीं शताब्दी में ही प्रकाश की गति का पता लगा लिया था.

4. ग्रहण के पीछे का कारण

Source: Tadst

उन्हें पहले ही ग्रहण के (सूर्य या चन्द्र ग्रहण) पीछे के विज्ञान के बारे में पता था. बाकी दुनिया तब ग्रहण का कारण काले जादू को मानती थी.

ऋग्वेद में सूर्य ग्रहण का ये वर्णन लिखा है- ऐ सूर्य! जब वो ही तुम्हारी रौशनी को रोकने लगता है, जिसे तुमने ही रौशन किया है, तो पृथ्वी पर अंधेरा छा जाता है.

5. Nikola Tesla ने स्वामी विवेकानंद से प्रेरणा ली थी

Source: whollyscience

Nikola Tesla की Lab जल जाने के बाद उन्होंने विवेकानंद से प्रेरणा ले कर ऊर्जा की अवधारणाएं बनायीं.

USE YOUR ← → (ARROW) KEYS TO BROWSE

loading...
loading...
SHARE